विज्ञापन
विज्ञापन

आपकी पढ़ाई को आसान बना देंगे ये ऐप्स

Kriyanshu Saraswatक्रियांशु सारस्वत Updated Fri, 03 Aug 2012 04:52 PM IST
apps for student
ख़बर सुनें
मोटी कापी-किताबों की जगह अब टैबलेट और स्मार्टफोन ने ले ली है। टेक्नोलॉजी के दौर में स्टूडेंट्स की जीवन शैली में काफी बदलाव आया है। पढ़ाई हो या पर्सनल लाइफ- छात्र सभी जगह टैबलेट और एप्स का जमकर इस्तेमाल कर रहे हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
स्टूडेंट्स के इसी रुझान को देखते हुए कंपिनयां भी एक से बढ़कर एक एप्लीकेशन बाजार में पेश कर रही हैं। आज हम गूगल के ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रायड की कुछ खास एप्लीकेशन पर बात कर रहे है, जो छात्रों की एजुकेशन लाइफ को आसान बना सकते हैं।

एवरनोट
एग्जाम के लिए नोट्स बनाने के लिए अब पेपर और पेन की जरूरत नहीं होगी। एंड्रायड ऑपरेटिंग सिस्टम के एवरनोट एप्लीकेशन से आसानी से कोर्स से संबंधित नोट्स बनाकर सुरक्षित रखे जा सकते है। एवरनोट नोट्स को सेव करने के साथ ही यह एक बेहतरीन रिमाइंडर टूल भी है, जो कि छात्रों के लिए काफी उपयोगी है।

एवरनोट ऐप नोट्स को स्टोर करने, फोटो कैप्चर करने, वाइस रिकार्ड करने और डेली टाइमटेबल के हिसाब से काम करने में स्टूडेंट की मदद करता है। इससे नोट्स को डेट वाइज सेट किया जा सकता है। इसमें नोट्स की शेयरिंग का ऑपशन भी दिया गया है। इसमें सेव किए गए नोट्स को आप टाइटल या कीवर्ड से खोज सकते हैं।

रिर्कोडाइड
रिर्कोडाइड की सहायता से कोई भी स्टूडेंट नोट्स की वाइस रिकार्डिंग कर सकता है। क्लॉस रूम में बैठकर आप लेक्चर को रिकार्ड कर सकते है और फिर उसे बिना किसी दिक्कत के दोबारा सुन भी सकते है। यह ऐप उन छात्रों के लिए काफी मददगार है जिन्हें क्लास में लेक्चर के दौरान नोट्स को लिखने और सुनने में दिक्कत होती है। इस ऐप की मदद से आप एक बार में एक घंटे तक का लेक्चर सेव कर सकते हैं।

शेयर योर बोर्ड
एंड्रायड ऐप शेयर योर बोर्ड से क्लास में लगे व्हाइट बोर्ड की इमेज कैप्चर कर सकते है और बाद में इसे आसानी से समझ सकते है। शेयर योर बोर्ड व्हाइट बोर्ड की परफेक्ट इमेज लेने में मददगार है। व्हाइट बोर्ड की कैप्चर की गई इमेज को बड़ा साइज करके देखा जा सकता है और बोर्ड पर लिखे मैटर को पड़ा जा सकता है।

इसके साथ ही इसमें यह भी सुविधा है कि इसे साथी छात्रों को भी शेयर किया जा सकता है। इसकी मदद से आप व्हाइट बोर्ड पर लिखे गए मैटर को एडिट भी कर सकते है। जिन छात्रों से क्लास मिस हो जाती है, उनके लिए यह ऐप वरदान साबित हो सकता है। क्लास मिस होने पर व्हाइट बोर्ड का फोटो कैप्चर करके बाद में क्लास में पढ़ाए गए टॉपिक को समझा जा सकता है।

क्विकपीडिया
क्विकपीडिया की मदद से आप अपने फोन पर विकीपीडिया को आसानी से एक्सिस कर सकते हैं। इसकी मदद से आप फीचर पेज, न्यूज और अन्य कई तरह की विकीपीडिया पर सर्च की जाने वाली इनफारमेशन को हासिल कर सकते है।

क्विकपीडिया किसी भी टॉपिक से संबंधित विश्वसनीय सूचना आपके स्मार्टफोन की स्क्रीन पर प्रदान करता है। इसकी मदद से आर्टिकल को एक्सप्लोर किया जा सकता है। इसमें फॉन्ट को बड़ा और छोटा करने की भी सुविधा है। इसके अलावा आप इसकी सहायता से सर्च किए गए मैटर को खुद को या अपने दोस्त को भी भेज सकते है।

गूगल डॉक्स
गूगल डॉक्स ऐसी एंड्रायड एप्लीकेशन है, जिसकी मदद से आप किसी भी कंप्यूटर से अपने डाक्यूमेंट को एडिट और एक्सिस कर सकते है। अगर आपके एंड्रायड फोन में यह ऐप मौजूद है तो इससे आपको यह फायदा होगा कि अपने इ-मेल पर आने वाले पीडीएफ या अन्य किसी फार्मेट की फाइल को आप पढ़ सकते है, चाहे तो एडिट भी कर सकते है। इससे गूगल क्लाउड की फाइल को भी इम्पोर्ट और एक्सपोर्ट किया जा सकता है।

अगर आप किसी भी ऐप को डाउनलोड करना चाहते है तो इसके लिए आपको गूगल प्ले पर जाना होगा। इन सभी ऐपस को एंड्रायड 2.2 और 2.3 वर्जन वाले स्मार्टफोन पर चलाया जा सकता है।

Recommended

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से
Election 2019

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर
Election 2019

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

अस्पताल में मरीज ने तोड़ा दम, इमरजेंसी गेट पर शव रखकर हंगामा

जिला अस्पताल में आयुष्मान वार्ड में उपचार करा रहे मरीज की मौत हो गई। परिजन इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा करने लगे। कुछ देर में इमरजेंसी गेट पर शव रखकर रास्ता बंद कर दिया।

21 मई 2019

विज्ञापन

मोदी को गाली देकर कोई चुनाव नहीं जीत सकता: केशव प्रसाद मौर्य

लोकसभा चुनाव के नतीजे आने में भले की कुछ घंटों का वक्त बचा हो लेकिन बीजेपी आपनी जीत तय मान रही है। यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने अमर उजाला से खास बातचीत में कहा कि भाजपा ने विकास के नाम पर वोट मांगे।

23 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election