विज्ञापन
विज्ञापन

इस बार क्यों ठिठकी मानसून एक्सप्रेस

विनीता वशिष्ठ Updated Fri, 29 Jun 2012 12:00 PM IST
why monsoon delayed this year
ख़बर सुनें
बंगाल की खाड़ी में समय से पहुंचने के बाद इस बार मानसूनी हवाएं रुक रुक कर बढ़ रही हैं। मौसम विशेषज्ञों कह रहे हैं कि इस समय मानसून की उत्तरी सीमा महाराष्ट्र, कर्नाटक के हिस्सों को छूती निकल रही है। यानी दिल्ली अभी दूर है। मौसम वैज्ञानिकों को ये भी आशंका है कि उत्तर भारत तक पहुंचते मानसूनी हवाएं कमजोर भी हो सकती है।
विज्ञापन
विज्ञापन
अरब सागर ने बनाई है उम्मीद


यूं तो मानसून को एक सप्ताह लेट माना जा रहा है। लेकिन कमजोर मानसून का कोई जवाब वैज्ञानिकों के पास नहीं है। चूंकि अरब सागर में उथल-पुथल शुरू होने की संभावना है, जिससे वेग बढ़ने के चांस बन रहे हैं। मानसून हिमालय की तलहटी पर पहुंचा तो हिमालय से टकरा कर लौटने वाली हवाओं से ही बारिश होगी। इसी बारिश से उत्तरी राज्य सराबोर हो सकते हैं।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए
ज्योतिष समाधान

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

खाल की तस्करी के लिए तेंदुए का किया था शिकार

खाल की तस्करी के लिए तेंदुए का शिकार करने की बात जांच में सामने आने से हड़कंप मच गया। तेंदुए को मारने वाले दोनों भाइयों ने वारदात को अंजाम देने के दौरान ग्रामीणों को भी अंधेरे में रखा था।

23 अप्रैल 2019

विज्ञापन

यूपी के बागपत में मिले कच्चे तेल मिलने के संकेत, खुदाई करके की जाएगी जांच

यूपी के जनपद बागपत में से एक बड़ी खबर सामने आई है। खबर है कि बागपत के किरठल में कच्चे तेल मिलने के संकेत हैं। जिसके बाद ओएनजीसी की टीम ने जांच करनी शुरु कर दी है।

13 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election