विज्ञापन

सिंध और बलूचिस्तान में बसे हैं ज्यादा हिंदू

विनीता वशिष्ठ Updated Fri, 11 May 2012 12:00 PM IST
all most hindu live in baluchistan and sindh
विज्ञापन
ख़बर सुनें
सिंध और बलूचिस्तान में हिंदुओं की बसावट होने के चलते वहां ऐसे मामले ज्यादा होते हैं जब हिंदुओं की बेटियां अगवा कर ली जाती हैं। कट्टरपंथी विचाराधारा से मेल रखने वाले लडक़े हिन्दू लड़कियों को अगवा करने के बाद कलमा पढ़ाकर जबरन निकाह करते कहते हैं। जब दिल भर जाता है तो उसे छोड़ देते हैं, अगर कोई लडक़ी इसका विरोध करे तो उसकी जान भी चली जाती है।
विज्ञापन
वर्ष 2010 की रिपोर्ट में कहा गया है कि बहुत से मामलों में हिन्दू लड़कियों का अपहरण कर उनके साथ रेप किया जाता है और बाद में उन्हें धर्म परिवर्तन पर मजबूर किया जाता है। सिंध प्रान्त विशेष कर देश की व्यापारिक राजधानी कराची में जबर्दस्ती परिवर्तन की घटनाएं हो रही हैं।

सवाल - क्या आपको लगता है कि पाकिस्तान में हिंदुओं की बदहाली के लिए सरकार जिम्मेदार है। क्या सभी हिंदुओं को भारत में जगह मिलनी चाहिए?

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Crime Archives

दो पुलिस कर्मियों समेत 6 पर रिपोर्ट दर्ज

कोर्ट के आदेश पर तत्कालीन चौकी इंचार्ज बंगरा व थाना माधौगढ़ के एसआई सहित छह लोगों पर मारपीट, प्राण घातक हमला, कुकर्म व फर्जी मुकदमे में फंसा देने की धमकी देने के आरोप में कोतवाली माधौगढ़ में रिपोर्ट दर्ज की गई है।

19 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

एशिया कप में भारत ने पाकिस्तान को रौंदा, रोहित शर्मा की तारीफ में ये बोले केदार

एशिया कप में पाकिस्तान को हराने के बाद भारतीय क्रिकेट केदार जाधव मीडिया से रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने कप्तान रोहित शर्मा की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि रोहित शर्मा को बैटिंग करते हुए देखना काफी उत्साहजनक होता है। खुद सुनिए और क्या बोले केदार।

20 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree