लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   News Archives ›   Other Archives ›   Take the shoes

जूते तो उतार लीजिए

विनीता वशिष्ठ Updated Tue, 01 May 2012 12:00 PM IST
Take the shoes
विज्ञापन
ख़बर सुनें
जूते पहन कर घर और मंदिर में जाना यहां सख्त नापसंद है। शहरों में भले ही मार्डन कल्चर के चलते जूते पहन कर घर में घुस जाते हों लेकिन गांवों में अभी भी जूते पहन कर घर में घुसना लोगों को नापसंद है। अगर आप जूते पहने ही किसी के घर में घुस गए तो सुनने को मिल सकता है - अरे अरे ऐसे कहां घुसे आ रहे हैं, जूते तो उतार दीजिए। मंदिर में अगर आपने ये गुस्ताखी की तो एक आध की डांट खानी पड़ सकती है।




भारतीयों को पसंद ना आने वाली इन बातों में आप ऐसी कौन सी बात जोड़ना चाहेंगे, जो पसंद नहीं की जाती?

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00