बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

दुनिया भर के मीडिया पर छाई खजाने की खुदाई

अमर उजाला, दिल्ली Updated Fri, 18 Oct 2013 06:46 PM IST
विज्ञापन
world media covers indian  'temple of gold'

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
हजार टन सोने की संभावना मिलने की आस में उन्नाव में एक पुराने किले की आज खुदाई शुरू हुई, तो देश भर के मीडिया पर यही मुद्दा छाया रहा।
विज्ञापन


लेकिन ऐसा नहीं है कि यह केवल भारत में बड़ी घटना बनी है। दुनिया के दूसरे हिस्सों में भी इस घटना का जिक्र हो रहा है। कई देशों के मीडिया में इस घटनाक्रम को प्रमुखता से कवर किया जा रहा है।


इनमें से कुछ ने तंज कसने के अंदाज में यह खबर दी है, तो दूसरों ने हैरानी भरे लहजे में।

ब्रिटिश अखबार की दिलचस्पी

ब्रिटेन के प्रमुख अखबार टेलीग्राफ ने साधु के सपने और उसके आधार पर खुदाई की तैयारियों का जिक्र करते हुए लिखा है, "अगर वाकई यहां सोना मिलता है, तो केंद्र और राज्य सरकार, साधु और उनके अनुयायियों के बीच मालिकाना हक को लेकर दावे किए जाएंगे।"

अखबार ने अपनी वेबसाइट पर लिखा है, "उन्नाव के शिव मंदिर के नीचे यह सोना कहां से आया, यह नहीं पता, लेकिन ऐसी संभावना है कि आखिरी राजा राव राम बक्श सिंह ने यह सब दिया होगा, जो ब्रिटिश अधिकारियों को लूटा करते थे।"

पाक की नजर

पाकिस्तान में भी इस घटना को लेकर दिलचस्पी देखी जा रही है। वहां की डेली टाइम्स वेबसाइट ने इस वाकये पर लिखा है, "सभी हिंदू नेता अरबों रुपया आरबीआई के खजाने में नहीं रखना चाहते। भारतीय हर दिन 2.3 टन सोना खरीदते हैं यानी एक हाथी के बराबर। और वे इसका बड़ा हिस्सा अपने पास जमा करके रखते हैं।"

अखबार ने लिखा है, "इससे अर्थव्यवस्था को चोट पहुंच रही है, क्योंकि भारत में सोने की खदान कम हैं। अगर स्वामी सरकार का ख्वाब सच है और वाकई एक हजार टन सोना मिलता है, तो साल भर में भारत में आयात होने वाले सोने की जगह ले सकता है, जिसका दाम 40 अरब डॉलर होगा।"

ऑल वॉइसेस, ऑड न्यूज, वॉइस ऑफ अमेरिका, यूएस वेब डेली जैसी अंतरराष्ट्रीय वेबसाइट पर भी यह खबर हाथोंहाथ ली जा रही है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us