विज्ञापन
विज्ञापन

सामने आईं मोदी और जासूसी वाली युवती की तस्वीरें

अमर उजाला, दिल्ली Updated Fri, 29 Nov 2013 02:19 PM IST
website released photos of narendra modi with woman
ख़बर सुनें
गुजरात में एक लड़की की जासूसी मामले में टेप रिलीज करने वाली इनवेस्टिगेटिव वेबसाइट 'गुलेल' ने अब अपनी वेबसाइट पर ऐसी तस्वीरें डाली हैं जिसमें मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी उस युवती के साथ दिखाई दे रहे हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
वेबसाइट ने भाजपा के दावे को खारिज करते हुए कहा है कि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी लड़की को पहले से जानते थे।

वेबसाइट पर अक्तूबर 2005 में आयोजित हुए 'कच्छ शरद उत्सव' के करीब दर्जन फोटो डाले गए हैं। इनमें एक फोटो में नरेंद्र मोदी उस युवती के साथ बात करते हुए दिखाई दे रहे हैं।

इन फोटो में नरेंद्र मोदी कच्छ जिले के तत्कालीन कलेक्टर प्रदीप शर्मा के साथ भी हैं। वेबसाइट पर लड़की का नाम बदलकर बताया गया है।

क्या है मामला
वेबसाइट गुलेल और कोबरा पोस्ट ने 15 नवंबर को कुछ टेप रिलीज कर जिसमें नरेंद्र मोदी के करीबी अमित शाह पर अपने 'साहेब' के लिए बंगलूरू की एक आर्किटेक्ट युवती की अहमदाबाद में जासूसी कराने का आरोप लगाया था।

उन्होंने प्रेस क्लब में तत्कालीन एटीएस एसपी जीएल सिंघल और शाह की बातचीत का कथित ऑडियो जारी किया गया था।

narendra modi
















(फोटा साभार: गुलेल)

शाह और सिंघल की बातचीत के मुताबिक लड़की की हर जगह जासूसी की गई थी। उसे जिम, एयरपोर्ट, हवाई यात्रा और अस्पताल में भी ट्रैक किया गया था। कांग्रेस का कहना था कि शाह के साहेब नरेंद्र मोदी ही हैं।

भाजपा ने इससे इनकार किया है। इसके बाद युवती के पिता ने बयान दिया था कि उन्होंने नरेंद्र मोदी से पारिवारिक रिश्तों के चलते अपनी बेटी की सुरक्षा के लिए कहा था और उन्हें इस मामले की जानकारी थी।

युवती को पहले से जानते थे मोदी
बृहस्पतिवार को जारी किए गए फोटोग्राफ्स इसलिए डाले गए हैं ताकि साबित हो सके की मोदी उस युवती को साल 2005 से जानते थे।

गुलेल के मुताबिक उनकी फोटोग्राफ्स भाजपा और युवती के पिता प्रेमलाल सोनी के उस दावे को खारिज करते हैं जिसमें कहा गया था कि केवल प्रेमलाल ही मोदी को जानते हैं। युवती की साल 2009 में जासूसी होने से पांच साल पहले से मोदी युवती को जानते हैं।

वहीं, प्रदीप शर्मा ने नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी की युवती से निकटता के कारण ही उन्हें निलंबित किया गया। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से मामले में सीबीआई जांच की मांग की है।

पूरी तस्वीरें देखने के लिए यहां क्लिक करें

(इस खबर पर प्रतिक्रिया देने के लिए नीचे के बॉक्स में कमेंट करें, शेयर करने के लिए फेसबुक शेयर बटन पर क्लिक करें)

Recommended

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी
Dolphin PG Dehradun

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी

समस्या कैसे भी हो, हमारे ज्योतिषी से पूछें सवाल और पाएं जवाब मात्र 99 रूपये में
Astrology

समस्या कैसे भी हो, हमारे ज्योतिषी से पूछें सवाल और पाएं जवाब मात्र 99 रूपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

कुलभूषण जाधव मामले में ICJ सुनाएगा फैसला, जानिए कब क्या हुआ?

पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव को ईरान से जबरदस्ती अगवा कर कथित जासूसी के आरोप में पाकिस्तानी सैन्य कोर्ट द्वारा फांसी की सजा देने के मामले में ICJ अपना फैसला सुनाएगा।

17 जुलाई 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree