बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

बड़े खतरनाक थे आंतकियों के निशाने, पढ़ें खबर

Updated Sun, 05 Apr 2015 12:00 PM IST
विज्ञापन
two militants killed in telangana in encounter

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
पिछले साल बिजनौर में शरण लिए छह आतंकियों को उनके आकाओं ने वेस्ट यूपी को दहलाने की मकसद से भेजा था। एजाजुद्दीन मुजफ्फरनगर दंगे का बदला लेने के लिए अपने साथियों के साथ यहां पनाह ले रखा था।
विज्ञापन


इन आतंकियों के निशाने पर मुजफ्फरनगर में लगने वाला आरएसएस का कैंप था। इस कैंप को उड़ाने के लिए ही बिजनौर में आतंकी बम बना रहे थे। यह बात आतंकियों ने जेल में बंद मददगार हुस्ना व अब्दुल्ला को ही बताई थी।


पिछले साल बिजनौर में लीलो देवी के मकान में आतंकी कई माह से टिके थे। किसी को उनके बारे में भनक तक नहीं था। यह आतंकी नाम बदलकर और हाथ में कलावा बांधने के साथ माथे पर तिलक भी लगाते थे। हिंदू इलाके में रहने वाले इन आतंकियों को सब हिंदू ही समझते थे।

एजाजुद्दीन, महबूब और जाकिर हुसैन मोहल्ला जाटान में किराये पर एक मकान में रहता था, जबकिअसलम, सालिक और अकरम मोहल्ला भाटान में रहता था। भाटान के जिस मकान में आतंकी किराये पर रहते थे, उस मकान के नीचे के कमरे में हुस्ना अपनी बहन के साथ किराये पर रहती थी।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

वेस्ट यूपी में खतरनाक मंसूबे अंजाम देने को छिपा था एजाजुद्दीन

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us