जब फलस्तीन में राष्ट्रपति को झेलना पड़ा भारी विरोध

Sandeep Bhattसंदीप भट्ट Updated Wed, 14 Oct 2015 10:58 AM IST
विज्ञापन
The President suffered a massive protest in Palestine

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
भारत की इस्राइल से बढ़ती नजदीकियों के कारण राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को मंगलवार को फलस्तीनी छात्रों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा।
विज्ञापन

अबू दिस की अल कुद्स यूनिवर्सिटी में आयोजित प्रणब मुखर्जी के एक कार्यक्रम के दौरान छात्रों ने जमकर नारेबाजी की और बैनर लहराकर अपनी नाराजगी जाहिर की।
परिसर में छात्रों के प्रदर्शन से स्थिति इतनी असहज हो गई कि राष्ट्रपति को यूनिवर्सिटी का अपना कार्यक्रम तो छोटा करना ही पड़ा, साथ में जवाहरलाल नेहरू हाईस्कूल के उद्घाटन कार्यक्रम को भी रद्द कर दिया गया।
यह प्रदर्शन उस वक्त हुआ है, जब इस्राइल और फलस्तीन के बीच तनाव एक बार फिर चरम पर है और जिसमें अब तक सैकड़ों लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। मंगलवार को भी दोनों पक्षों के बीच हुई ताजा हिंसा में दोनों पक्षों के कम से कम पांच लोग मारे गए, जबकि पांच जख्मी हो गए।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

राष्ट्रपति का काफिला भी बंटा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us