तेजपाल से पूछताछ के बिना ही लौटी पुलिस

अमर उजाला, दिल्ली Updated Mon, 25 Nov 2013 11:09 AM IST
विज्ञापन
tehelka tarun tejpal sexual harassment case goa police

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
आशंकाओं के विपरीत गोवा पुलिस यौन उत्पीड़न के आरोपों में फंसे तहलका पत्रिका के संपादक तरुण तेजपाल से पूछताछ किए बिना ही लौट गई।
विज्ञापन

माना जा रहा है कि पुलिस पीड़ित महिला पत्रकार के बयान दर्ज कराने के बाद ही तेजपाल से पूछताछ या गिरफ्तारी का कदम उठाएगी।
गोवा पुलिस ने शनिवार को पत्रिका की प्रबंध संपादक शोमा चौधरी से करीब नौ घंटे तक पूछताछ की थी। इसके अलावा रविवार को पत्रिका के तीन कर्मचारियों से गोवा सदन में लंबी पूछताछ की गई।
जांच टीम अपने साथ एक हार्ड डिस्क सहित कई दस्तावेज के अलावा पीड़ित पत्रकार की शिकायत संबंधी ई-मेल की कॉपी भी ले गई है।

तेजपाल के करीबियों का कहना है कि वह मामले की जांच किसी स्वतंत्र एजेंसी कराने की मांग को लेकर सोमवार को अदालत का दरवाजा खटखटा सकते हैं।

पहले माना जा रहा था कि गोवा पुलिस रविवार को ही तेजपाल से पूछताछ कर उन्हें गिरफ्तार कर लेगी लेकिन जांच टीम बिना पूछताछ किए ही लौट गई।

हालांकि शनिवार को देर रात करीब 2 बजे तक शोमा चौधरी से पूछताछ की गई। चौधरी से नौ घंटे तक चली पूछताछ में पुलिस ने कई सवाल किए। इसके अलावा रविवार को गोवा स्थित होटल में मौजूद रहे पत्रिका के तीन पत्रकारों शौगतदास गुप्ता, जी विष्णु और इशांत तंखा से गोवा सदन में सवाल जवाब किए।

पीड़िता ने इन तीनों से ही यौन उत्पीड़न की घटना का जिक्र किया था और तीनों के नामों का उल्लेेख अपने ई-मेल में भी किया है।

सूत्रों का कहना है कि तेजपाल के खिलाफ अगली कार्रवाई करने से पहले पुलिस मुंबई में पीड़ित पत्रकार से बातचीत कर बयान रिकॉर्ड करने की कोशिश करेगी। सूत्रों का कहना है कि तेजपाल की गिरफ्तारी सुनिश्चित है, बस यह कार्रवाई कुछ घंटों-दिनों के लिए टल जरूर गई है।

उधर, तेजपाल के करीबियों का कहना है कि वह संभवत: इस मामले में सोमवार को अदालत का दरवाजा खटखटा कर मामले की जांच गोवा पुलिस की जगह किसी अन्य एजेंसी को दिए जाने की मांग करेंगे।

यौन शोषण का आरोप स्वीकार करने के बाद तेजपाल अपने बयान से पलट गए और उन्होंने मीडिया में आ रही खबरों को आधा सच बताया था। इसके साथ ही उन्होंने राजनीतिक साजिश के तहत खुद को फंसाने की साजिश का भी हवाला दिया।

तेजपाल पर लगाए जा सकते हैं नए आरोप
गोवा पुलिस के डीजीपी ओपी मिश्रा ने उन संभावनाओं से इनकार नहीं किया है कि यौन शोषण के आरोप में घिरे तहलका पत्रिका के संपादक तरुण तेजपाल पर नए आरोप लगाए जा सकते हैं। उनका कहना है कि जांच में कई नई बातें उभर कर सामने आ रही हैं और जरूरत पड़ने पर अतिरिक्त धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि जांच सही दिशा में चल रही है। हॉलीवुड एक्टर रॉबर्ट डी नीरो से पूछताछ के सवाल पर मिश्रा ने कहा कि जरूरत पड़ने पर हर मुमकिन काम किया जाएगा लेकिन अभी ऐसा कोई इरादा नहीं है। तहलका के थिंकफेस्ट के दौरान नीरो के आवभगत में पीड़िता की ड्यूटी लगाई गई थी।

महिला आयोग ने पीड़िता पत्रकार की सुरक्षा की मांग की
राष्ट्रीय महिला आयोग ने मुंबई पुलिस से तहलका के संपादक पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली महिला पत्रकार की सुरक्षा की मांग की है। आयोग ने यह अपील पीड़िता के उस बयान के बाद की है, जिसमें उसने कहा था कि तेजपाल अब उस पर समझौते के लिए दबाव डाल रहे हैं और उसे तथा उसके परिवार को धमकाया भी जा सकता है।

वहीं दूसरी ओर आयोग का एक तीन सदस्यीय दल गोवा जाकर आरोपों की जांच करेगा। राज्य महिला आयोग ने गोवा पुलिस से इस मामले में 25 नवंबर तक सभी जानकारी एवं तथ्यों की मांग की है।

तेजपाल से पूछताछ या गिरफ्तारी नहीं थी एजेंडा में
गोवा पुलिस की जांच अधिकारी सुनीता सावंत का कहना है कि उनके दिल्ली आने का मकसद तेजपाल की गिरफ्तारी या उनसे पूछताछ नहीं था।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us