तेजपाल डाल रहे समझौते का दबाव: पीड़िता

अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sun, 24 Nov 2013 09:15 AM IST
विज्ञापन
tehelka case goa police shoma chaudhury tarun tejpal

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
यौन उत्पीड़न मामले में घिरे तहलका पत्रिका के संपादक तरुण तेजपाल की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। उन पर आरोप लगाने वाली महिला पत्रकार ने तेजपाल पर अब मामला वापस लेने का दबाव डालने का आरोप लगाया है।
विज्ञापन

युवती ने कहा कि तेजपाल का रिश्तेदार उसकी मां के घर गया और उसके परिवार पर भावनात्मक दबाव डालने की कोशिश की। सहमी पीड़ित ने आशंका जाहिर की है कि कहीं यह उत्पीड़न और धमकियों की शुरुआत तो नहीं है। इस बीच दिल्ली पहुंची गोवा पुलिस ने तहलका की प्रबंध संपादक शोमा चौधरी से पूछताछ की। इसके साथ ही तहलका के दफ्तर से कुछ दस्तावेज भी जब्त किए गए।
पीड़ित युवती ने आरोप लगाया है कि तेजपाल का एक रिश्तेदार 22 नवंबर की रात नई दिल्ली स्थित उसकी मां के घर पहुंचा। उसने मां से पूछा कि शिकायत वापस लेने के बदले युवती क्या चाहती है। उसने यह भी पूछा कि वे किससे कानूनी सलाह ले रहे हैं। उनसे तेजपाल को बचाने को भी कहा।
पीड़ित युवा पत्रकार ने कहा है कि तेजपाल के लोग मेरे परिवार पर भावनात्मक दबाव बना रहे हैं और यह वक्त काफी पीड़ादायक है। उसने लिखा है कि वह तेजपाल से संबंधित सभी लोगों और उनके सहयोगियों से कहना चाहती है कि वे लोग उससे और उसके परिवार से दूर ही रहें।

तेजपाल पर कसा शिकंजा शोमा चौधरी से पूछताछ
तहलका पत्रिका के संपादक तरुण तेजपाल पर यौन उत्पीड़न मामले में शिकंजा कसता जा रहा है। तेजपाल से पूछताछ के लिए गोवा पुलिस की एक टीम शनिवार को दिल्ली पहुंची। हालांकि तरुण अपने घर और कार्यालय से गायब थे। वह कहां पर हैं, इसकी जानकारी नहीं मिल सकी है। तेजपाल पर गिरफ्तारी की तलवार भी लटक रही है। पुलिस टीम ने पत्रिका की प्रबंध संपादक शोमा चौधरी और दो-तीन अन्य कर्मचारियों से पूछताछ की है।

साथ ही पुलिस ने पत्रिका के कार्यालय से कुछ कागजात भी जब्त किए हैं। साथ ही गोवा पुलिस ने शनिवार देर रात पीड़ित महिला पत्रकार के बयान भी दर्ज किए। हालांकि पुलिस अधिकारियों ने इसकी पुष्टि नहीं की है कि महिला के बयान लिए जा चुके हैं या नहीं। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा गोवा पुलिस की सहायता कर रही है।

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त रविंद्र यादव ने बताया कि गोवा पुलिस की तीन सदस्यीय टीम शनिवार शाम को यहां पहुंची।

पुलिस में एक महिला पुलिसकर्मी भी शामिल है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार गोवा पुलिस शाम करीब सवा पांच बजे जीके-दो के एम ब्लॉक स्थित तहलका पत्रिका के कार्यालय पहुंची। रविंद्र यादव खुद गोवा पुलिस के साथ थे।

गोवा पुलिस ने यहां से पीड़ित महिला पत्रकार का ई-मेल, कंप्यूटर की हार्ड डिस्क, लैपटॉप और आईपैड समेत अन्य सामान जब्त किया गया है। गोवा पुलिस ने पत्रिका की प्रबंध संपादक शोमा चौधरी से पूछताछ की है। इसके अलावा यहां पर कार्यरत दो-तीन अन्य कर्मचारियों से भी पुलिस ने पूछताछ की है।

पढ़ें: 'तहलका' में पैसा लगाने वाली कंपनी ही 'फ्रॉड'

गोवा पुलिस पीड़ित पत्रकार के उस ई-मेल को हासिल करने का प्रयास कर रही है जिसे उसने प्रबंधन को भेजा था। गोवा पुलिस उस पत्र को भी हासिल करने का प्रयास कर रही थी कि जिसमें तेजपाल ने छह महीने से संपादक पद से दूर रहने की बात कही है।

हालांकि प्रबंध संपादक ने पत्रकारों को बताया कि वह गोवा पुलिस को पहले ही काफी सूचनाएं दे चुकी हैं। दिल्ली पुलिस सूत्रों का कहना है कि गोवा पुलिस को तरुण तेजपाल के खिलाफ काफी सबूत मिल गए हैं।

पढ़े: तेजपाल पर आरोप, सोशल मीडिया में 'तहलका'

गोवा पुलिस ने कहा, एलिवेटर में नहीं लगे हैं कैमरा
गोवा पुलिस के डीआईजी ओपी मिश्रा ने शनिवार को कहा कि उन्हें जानकारी दी गई है कि होटल के ऐलिवेटर में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं। इसी एलिवेटर में तहलका के संपादक तरुण तेजपाल की ओर से महिला पत्रकार के साथ छेड़छाड़ होने की बात कही गई थी।

पुलिस अब होटल के दूसरे हिस्सों में लगे कैमरों का लेआउट लेकर उनका विश्लेषण कर रही है। उन्होंने कहा कि होटल से सीसीटीवी फुटेज हासिल कर लिया गया है लेकिन तकनीकी और साजोसामान की दूसरी दिक्कतों की वजह से इसकी तुरंत जांच नहीं हो सकी है।

तेजपाल के घर और कार्यालय की सुरक्षा कड़ी
दिल्ली पुलिस ने तहलका पत्रकार के संपादक तरुण तेजपाल के जंगपुरा स्थित घर और जीके-दो स्थित तहलका पत्रिका के कार्यालय की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि गोवा पुलिस के दिल्ली आने के बाद किसी अप्रिय घटना की आशंका को लेकर सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है।

10 से 12 पुलिसकर्मी पत्रिका के कार्यालय के बाहर तैनात किए गए हैं और आधा दर्जन पुलिसकर्मी उसके घर के बाहर तैनात किए गए हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us