मोदी को घेरने के चक्कर में पड़ी यूपीए में फूट

sachin yadavसचिन यादव Updated Mon, 05 May 2014 10:32 AM IST
विज्ञापन
snoopgate matter create trouble in upa

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
नरेंद्र मोदी को घेरने के लिए लोकसभा चुनाव के नतीजों से पहले ही महिला जासूसी कांड की जांच कराने पर अड़ी कांग्रेस अपने सहयोगी दलों के दबाव के चलते बैकफुट पर आ गई है। यूपीए में शामिल नेशनल कांफ्रेंस और एनसीपी ने सरकार के निर्णय का विरोध करते हुए इसकी टाइमिंग पर सवाल खड़े किए हैं।
विज्ञापन

किसी तरह की किरकिरी से बचने के लिए कांग्रेस ने अपने पुराने रुख से पलटते हुए कहा है कि यूपीए में लोकतंत्र है और वह कोई भी फैसला सहयोगी दलों से विचार विमर्श के बाद ही लेगी।
आयोग के गठन के बाद चुप्पी साधे रही केंद्र सरकार ने हाल ही में अचानक जांच के लिए हाईकोर्ट के एक रिटायर जज को नियुक्त करने की घोषणा की लेकिन मोदी को घेरने के लिए जांच को अंतिम हथियार बनाने की कांग्रेस की कोशिशें कामयाब होती नहीं दिख रही हैं। यूपीए के सहयोगी दलों ने इस कदम पर नाराजगी जाहिर की है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

NC और NCP की नाराजगी ने बढ़ाई परेशानी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us