बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

छह साल बाद मिली बच्ची, गजब है मिलन की कहानी

Updated Sat, 04 Apr 2015 11:17 PM IST
विज्ञापन
Six years later child was found

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
छह साल से बिटिया की तलाश में दर-दर की ठोकरें खा रहे गोरखपुर निवासी मां-बाप का दामन शनिवार को खुशियों से भर गया। बेटी को देखते ही उसे कलेजे से लगाकर माता-पिता रो पड़े। जुबां से कोई शब्द नहीं, आंखों से झर-झर बहते आंसुओं ने ही एक-दूसरे से सारा हाल बयां कर दिया।
विज्ञापन


भावुक हुए माहौल में जीआरपी थाने पर जुटे लोग ही नहीं, सुरक्षाकर्मियों की भी आंखें छलक आईं। संयोग ऐसा कि जिस कैंट रेलवे स्टेशन पर छह साल पहले बेटी बिछड़ी थी, वहीं परिवार से दोबारा मिलन भी हुआ।


हालांकि बिछुड़ने के बाद जिस नि:संतान दंपती ने उसे अपनी बेटी मानते हुए पाला-पोसा उनके हिस्से रुसवाई ही आई। लड़की की जानकारी छिपाने और बार-बार पता बताने पर उसे घर पहुंचाने का प्रयास नहीं करने के आरोप में जीआरपी ने चालान कर दिया।

गोरखपुर के बेलीपार थाना क्षेत्र के भरवल निवासी सुग्गन और मंजू देवी की पुत्री निशा (14) छह साल पहले दादी के साथ गंगा स्नान के लिए वाराणसी आई थी। तब उसकी उम्र आठ साल थी। स्टेशन पर ही किसी तरह वह परिवार से बिछड़ गई।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

बिछड़ने के बाद मासूम को निःसंतान दंपति ने पाला

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us