खाद्य सुरक्षा विभाग के खिलाफ मानहानि का दावा करेंगे

हरिद्वार/अमर उजाला ब्यूरो Updated Thu, 27 Sep 2012 10:42 AM IST
विज्ञापन
ramdev to file defamation case against food safety department

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
योग गुरू बाबा रामदेव ने उनके प्रतिष्ठानों को बदनाम करने वाले खाद्य सुरक्षा विभाग के खिलाफ मानहानि का दावा करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि विभाग ने केवल लेबल प्रिटिंग और मिस ब्रांडिंग के आरोप लगाए हैं। इन आरोपों में इसलिए भी कोई दम नहीं है कि लेबल मापदंड का पालन करने के लिए उनके पास अभी चार महीने का समय शेष है।
विज्ञापन

रामदेव ने कहा कि जब भी वह कोई आंदोलन शुरू करते हैं तभी उनके प्रतिष्ठानों को बदनाम करने की साजिश की जाती है। बुधवार को पत्रकारों से रामदेव ने कहा कि सरकारी एजेंसियां षड़यंत्र के तहत उनके खिलाफ काम कर रही हैं। कैंसरग्रस्त कांग्रेस सरकार ऐसा व्यवहार कर रही है मानो वे राष्ट्रद्रोही हों।
रामदेव ने कहा कि गुणवत्ता की दृष्टि से उनके प्रोडक्ट अंतरराष्ट्रीय मानकों पर खरे उतरे हैं। खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा लेबल प्रिटिंग या मिस ब्रांडिंग के आरोप लगाए गए हैं। एफएसएसएआई के निर्देशानुसार लेबलिंग की जा रही थी। अब एफएसएसएआई ने नए निर्देश भेजकर लेबल चेंज करने को कहा है। 95 प्रतिशत लेबल बदले जा चुके हैं। लेबलिंग मापदंड पालन के लिए सरकार की ओर से दिया गया समय चार फरवरी, 2013 तक है। अभी चार महीने का समय शेष रहते हुए इस तरह की कार्रवाई शर्मनाक है।
रामदेव ने कहा कि सरकार के षड़यंत्र का उनके आंदोलन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। नौ अगस्त के आंदोलन से पूर्व आचार्य बालकृष्ण को जबरन गिरफ्तार किया गया था। अब दो अक्तूबर के आंदोलन से घबराकर बेवजह रिपोर्ट का हल्ला मचाया गया है। उन्होंने कहा कि न्यायालय में अपने हक की लड़ाई लड़ी जाएगी तथा खाद्य सुरक्षा विभाग के खिलाफ मानहानि का दावा किया जाएगा। गुरुवार से भारत स्वाभिमान के दो हजार कार्यकर्ता हरिद्वार जिले के गांव-गांव फैलकर सरकार के काले कारनामों को उजागर करेंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us