'My Result Plus

राजेश खन्ना को मिलेगा पद्म विभूषण?

नई दिल्ली/एजेंसी Updated Wed, 26 Dec 2012 09:39 PM IST
rajesh khanna may be postumously conferred with padma vibhushan
ख़बर सुनें
बॉलीवुड के गुजरे जमाने के सुपर स्टार दिवंगत राजेश खन्ना को इस साल देश के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से नवाजा जा सकता है। पद्म पुरस्कारों के लिए नामों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए बुधवार को एक उच्च स्तरीय समिति की बैठक हुई।
काका के नाम से मशहूर खन्ना का इसी साल 18 जुलाई को निधन हो गया। इसके अलावा शोले जैसी फिल्म का निर्माण करने वाले रमेश सिप्पी को अगले साल गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म श्री से सम्मानित किया जा सकता है।

पद्म पुरस्कारों के लिए नाम चयनित करने वाली समिति में कैबिनेट सचिव अजित सेठ, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव पुलक चटर्जी, केंद्रीय गृह सचिव आरके सिंह, अभिनेत्री रत्ना पाठक शाह, वैज्ञानिक अनिल काकोडकर शामिल हैं। इन सभी ने बैठक में अगले साल दिए जाने वाले पद्म पुरस्कार के विजेताओं के नाम शार्टलिस्ट किए।

पद्म पुरस्कार से सम्मानित किए जाने वाले नामों की घोषणा प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की मंजूरी के बाद 25 जनवरी 2013 को की जाएगी। सूत्रों ने बताया कि खन्ना और सिप्पी के नामों की सिफारिश सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने की है। इस साल प्रसिद्ध गायक और संगीतकार भूपेन हजारिका को मरणोपरांत पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।

बॉलीवुड स्टार खन्ना 1992 से 1996 तक नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस सांसद रह चुके हैं। खन्ना को अपने जीवनकाल में कभी भी पद्म पुरस्कार नहीं मिला, जबकि उनके समकालीन धर्मेंद्र, देव आनंद, शशि कपूर, अमिताभ बच्चन, दिलीप कुमार, हेमा मालिनी और वहीदा रहमान इस पुरस्कार से सम्मानित हो चुके हैं। इसी तरह निर्माता-निदेशक सिप्पी (65) को भी तक पद्म पुरस्कार नहीं मिला है।

Spotlight

Most Read

India News Archives

पहली बार बांग्लादेश की धरती से विद्रोहियों के ठिकाने पूरी तरह से साफ: BSF

भारत की पूर्वी सीमा पर दशकों से चले आ रहे सीमा पार विद्रोही शिविरों को लेकर एक अहम जानकारी आई है।

18 दिसंबर 2017

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen