विज्ञापन

कृतिम हीरा तैयार करने का खुला रहस्य!

डेविड रॉबसन/फीचर लेखक, बीबीसी फ्यूचर Updated Mon, 01 Dec 2014 04:05 PM IST
news to make artificial diamond in laboratory.
विज्ञापन
ख़बर सुनें
हमारी धरती जितनी दिलचस्प ऊपर है, उतनी रहस्यमय अंदर से भी है। धरती के पेट में ईंधन और बेशकीमती खनिज और रत्न भरे पड़े हैं। हीरा धरती के अजूबों में से एक है।
विज्ञापन
धरती के गर्भ में हीरा बनता कैसे है इस रहस्य से पर्दा उठाने की कोशिश कर रहे हैं वैज्ञानिक डैन फ्रॉस्ट, जर्मनी के बेयरिस्क जियो इंस्टीट्यूट की लेबोरेट्री में।

लैब में कभी-कभार होने वाले धमाके और अपने ऑफिस के फ्लोर के हिलने जैसी बातों से फ्रोस्ट ज्यादा परेशान नहीं होते, उन्होंने अपनी प्रयोगशाला में पृथ्वी के गहरे गर्भ जैसे हालात पैदा करने की कोशिश की है जिनकी वजह से हीरा बना होगा।

चट्टानों पर बहुत भारी दबाब डाला जाता है जो इंसानी बूते से बाहर की बात है। ऐसे में कुछ छोटी-मोटी दुर्घटनाओं का होना ताज्जुब की बात नहीं है, अपने इस कार्य के दौरान फ्रोस्ट को हीरा बनाने के कई चौंकाने वाले तरीकों का पता चला है।

इनमें सबसे चौंकाने वाला है भुनी हुई मूंगफली को पीसकर बनाए गए पेस्ट का इस्तेमाल जिसे पीनट बटर कहते हैं। अंतरिक्ष की खोज के क्षेत्र में हमने जितनी तरक्की की है, उसकी तुलना में अपने ही पैर के नीचे दबी दुनिया के बारे में हमारी जानकारी काफी कम है।

फ्रॉस्ट का कहना है, "अगर हमें यह जानना है की पृथ्वी की रचना कैसे हुई तो हमें यह जानना होगा कि यह ग्रह किससे बना है।"
विज्ञापन
आगे पढ़ें

हीरा की आणविक संरचना

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

India News Archives

चाबहार परियोजना पर फिलहाल नहीं बहेगी नाराजगी की बयार  

ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध के कारण भारत के लिए कूटनीतिक दृष्टि से बेहद अहम चाबहार परियोजना पर फिलहाल कोई असर नहीं पड़ेगा।

18 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree