विज्ञापन

मोदी के जयापुर गांव का छुपा हुआ सच, आप भी जानिए

Harendra Singh Moralहरेन्द्र सिंह मोरल Updated Fri, 03 Apr 2015 03:05 PM IST
Modi's favorite village youth, said,
ख़बर सुनें
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गोद लिए गांव जयापुर का एक बड़ा वर्ग गांव में हो रहे बदलाव से खुश नहीं है। उन्हें लगता है कि एलईडी बल्ब मिल जाने, सोलर लाइट लग जाने और टॉयलेट बन जाने से उनकी जिंदगी में कोई बड़ा बदलाव नहीं आने वाला।
विज्ञापन
उन्हें रोजगार चाहिए। वहीं जयापुर से सटे गांवों में अब यह सोच घर करती जा रही है कि जयापुर उस दिन आदर्श गांव कहलाएगा जब उसके आसपास के गांव भी उसकी तरह ही विकसित और खुशहाल होंगे।

गांव की दलित बस्ती के अनिल इंटरमीडिएट के छात्र हैं। विज्ञान के इस छात्र ने कहा कि जब मोदी जी ने इस गांव को गोद लिया तो हम सबको उम्मीद थी कि गांव में कल-कारखाने लगेंगे, ढेर सारे लोगों को रोजगार मिलेगा।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

टायलेट पार्क से नहीं दूर होगी हमारी गरीबी

विज्ञापन

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

6700 पीटीए शिक्षकों को झटका, कैबिनेट में नहीं हुआ कोई फैसला

नियमित शिक्षकों के बराबर वित्तीय लाभ मिलने की आस में बैठे 6700 पीटीए शिक्षकों को बड़ा झटका लगा है।

20 जनवरी 2019

विज्ञापन

पश्चिम बंगाल में ममता की महारैली, विपक्षी एकता की दिखेगी झलक

पश्चिम बंगाल में कोलकाता का बिग्रेड परेड ग्राउंड लोकसभा चुनावों के लिए विपक्षी एकता की सियासी पिच बनने जा रहा है। जहां से ममता बनर्जी बीजेपी के खिलाफ महारैली का आगाज करेंगी।

19 जनवरी 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree