'आपदा का समय है, मोदी को हराना जरूरी'

ब्यूरो/अमर उजाला, वाराणसी Updated Thu, 08 May 2014 06:45 PM IST
विज्ञापन
Modi must defeat says vishnu khare

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
साहित्य जगत में अपनी बेबाक प्रतिक्रियाओं के लिए पहचाने जाने वाले कवि और पत्रकार विष्णु खरे बनारस संसदीय सीट पर नरेंद्र मोदी की उम्मीदवारी से व्यथित हैं। उन्होंने सीधे तौर पर मोदी के खिलाफ लड़ रहे मजबूत दावेदार की पैरोकारी करते हुए जनता को विकल्प सुझाने के पक्षधर हैं।
विज्ञापन

इसी के चलते कबीरचौरा मूलगादी मठ में आयोजित सांप्रदायिक फासीवाद विरोधी मंच के कन्वेंशन के दौरान उनको अहसमति के स्वर भी सुनने को मिले। इसके बावजूद जर्मन, फ्रेंच सहित तमाम विदेशी भाषाओं के जानकार और हिंदी कविता को अपने अनुवाद के जरिए अंतरराष्ट्रीय मंच पर पहुंचाने वाले विष्णु खरे ने अपना विचार नहीं बदला।
वह दो टूक शब्दों में कहते हैं, "इस समय हिंदुस्तान और बनारस आपदा ग्रस्त है। यह ऐसा समय है कि केवल विरोध करने से काम नहीं चलेगा। वैचारिक प्रतिबद्धता ही काफी नहीं है। लोगों को सही राह दिखानी होगी। यहां से मोदी की जीत को मैं बुद्धिजीवियों की हार मानूंगा।" पेश है उनसे बातचीत के प्रमुख अंश...
विज्ञापन
आगे पढ़ें

'काशी एक मस्त शहर'

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us