विज्ञापन

पर्यावरण प्रेमियों पर बरसी पीएम मोदी की कृपा, साइकिल से संसद आने वाले सांसद बने मंत्री 

हिमांशु मिश्र/ अमर उजाला, दिल्ली Updated Tue, 05 Jul 2016 10:50 PM IST
अर्जुन मेघवाल
अर्जुन मेघवाल
विज्ञापन
ख़बर सुनें
इसी महीने शुरू हो रहे संसद के मॉनसून सत्र के दौरान भाजपा सांसदों में साइकिल की सवारी की होड़ शुरू हो सकती है। दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने के लिए सत्र के दौरान साइकिल से संसद आने-जाने वाले तीनों सांसदों अर्जुन मेघवाल, अनिल माधव दवे और मनसुख लक्ष्मणभाई मंडाविया को मंत्रिमंडल विस्तार में शामिल कर इस दिशा में प्रयास करने वालों की पीठ थपथपाई है।
विज्ञापन
साइकिल की सवारी के जरिए पहले से ही चर्चा में रहे तीनों सांसद पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में भी बेहद मुखर रहे हैं। शपथ लेने के लिए तीनों सांसद संसद की तरह ही राष्ट्रपति भवन भी साइकिल से ही पहुंचे। खासबात यह है कि विस्तार में पदोन्नति पाने वाले एक मात्र राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रकाश जावड़ेकर के पास भी पर्यावरण मंत्रालय का ही जिम्मा था। 

विस्तार के बाद सियासी गलियारे में पीएम मोदी के इस पर्यावरण प्रेम की खासी चर्चा भी हो रही है। हालांकि सच्चाई यह है कि जावड़ेकर को प्रधानमंत्री ने बड़ी परियोजनाओं को मंत्रालय से संबंधित अनुमति की प्रक्रिया को बेहद सरल बनाने का ईनाम दिया है। विस्तार में जगह पाने वाले तीनों सांसद पर्यावरण संरक्षण की दिशा में अपने निजी प्रयासों से भी चर्चा में रहे हैं।

ये सभी सांसद अलग-अलग क्षेत्रों के विशेषज्ञ भी हैं। नर्मदा अभियान से जुड़े रहे अनिल माधव दवे की पर्यावरण, ग्रामीण अर्थव्यवस्था और प्रबंधन पर कई पुस्तकें लिख चुके हैं। आईएएस अधिकारी रहे दलित समुदाय के मेघवाल संविधान के बेहतरीन जानकार हैं। इसी प्रकार मनसुख लक्ष्मण भाई पर्यावरण संरक्षण की दिशा में गुजरात में कई सफल प्रयोग के कारण चर्चा में रहे हैं।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

साइकिल ने बदला राष्ट्रपति भवन का नजारा

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

India News Archives

चाबहार परियोजना पर फिलहाल नहीं बहेगी नाराजगी की बयार  

ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध के कारण भारत के लिए कूटनीतिक दृष्टि से बेहद अहम चाबहार परियोजना पर फिलहाल कोई असर नहीं पड़ेगा।

18 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree