विज्ञापन

आपदा में केदारनाथ मंदिर की दीवार को भी नुकसान

नई दिल्ली/एजेंसी Updated Thu, 08 Aug 2013 12:06 AM IST
minor damage to outer wall of Kedarnath sanctum sanctorum
ख़बर सुनें
उत्तराखंड में आई भीषण तबाही के बाद केदारनाथ मंदिर के गर्भगृह की बाहरी दीवार मामूली रूप से क्षतिग्रस्त हो गई है।
विज्ञापन
विज्ञापन
भारतीय पुरातत्व विभाग (एएसआई) के विशेषज्ञों की टीम ने हाल ही में मंदिर का दौरा किया, जिसके बाद यह पता चला है कि गर्भगृह के पूर्वोत्तर की बाहरी दीवार बाढ़ की वजह से क्षतिग्रस्त हो गई है। एएसआई के अतिरिक्त महानिदेशक बीआर मनी ने यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा, ‘कई जगहों पर मंदिर के भीतर पत्थर ढांचे में धंस गए हैं। मंडप के पूर्वी, पश्चिमी और दक्षिणी प्रवेश द्वार से यह साफ तौर पर दिखाई देते हैं।’

एएसआई के निदेशक (संरक्षण) जानविज शर्मा के नेतृत्व में पांच सदस्यीय टीम ने 2 और 3 अगस्त को मंदिर का निरीक्षण किया था। उनके साथ भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (जीएसआई) के प्रतिनिधि भी थे।

मनी ने बताया, ‘मंदिर में हुए नुकसान की समीक्षा की जा चुकी है और जब जल्द ही बहाली का काम शुरू कर दिया जाएगा। अभी हमारे समक्ष मौसम जैसी चुनौतियां हैं। बावजूद इसके काम जल्द ही शुरू हो जाएगा। इसके लिए उत्तराखंड सरकार को हमें संसाधन मुहैया कराने होंगे।’

फंड के संबंध में उन्होंने कहा कि केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय को फंड आवंटित करना होगा। इसके लिए हम एक अनुमान तैयार कर रहे हैं।

मनी ने बताया कि निरीक्षण के दौरान मलबे में कुछ मूर्तियां बरामद हुई हैं, जिन्हें मंदिर परिसर से हटा लिया गया है। चूंकि मंदिर एक संरक्षित स्मारक नहीं है, इसलिए हम मूर्तियों के गुम होने के बारे में जानकारी देने की स्थिति में नहीं हैं। पहले इस संबंध में कोई दस्तावेज बनाए गए हैं या नहीं, इस बारे में हमें देखना होगा।

जीएसआई की भूमिका के बारे में उन्होंने कहा कि भू विशेषज्ञ मंदिर की नींव, ढांचे और मिट्टी की स्टडी की और अगर पत्थरों को हटाना होगा, तो वह अपनी राय देंगे।

जब उनसे पूछा गया कि मंदिर के पीछे के ‘अलौकिक’ पत्थर को हटाया जाएगा, तो उन्होंने कहा कि यह जीएसआई के विचार पर निर्भर करता है।

हालांकि मनी का मानना है कि यह पत्थर इतिहास का हिस्सा है और अगर इससे मंदिर को बचाए रखने में मदद मिलती है, तो इसे वहीं पर रहना चाहिए। बाढ़ के समय भी इसने मंदिर को बचाने में अहम भूमिका निभाई थी।

Recommended

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें
त्रिवेणी संगम पूजा

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

थाने व स्कूल में बंद किए अन्ना पशु

बेला में प्राइमरी स्कूल के छात्रों और एरवाकटरा थाने में कामकाज प्रभावित रहा

21 जनवरी 2019

विज्ञापन

पश्चिम बंगाल में ममता की महारैली, विपक्षी एकता की दिखेगी झलक

पश्चिम बंगाल में कोलकाता का बिग्रेड परेड ग्राउंड लोकसभा चुनावों के लिए विपक्षी एकता की सियासी पिच बनने जा रहा है। जहां से ममता बनर्जी बीजेपी के खिलाफ महारैली का आगाज करेंगी।

19 जनवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree