विज्ञापन
विज्ञापन

अयोध्या में यथास्थिति बरकरार रखी जाए: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली/अमर उजाला ब्यूरो Updated Mon, 28 Jan 2013 08:07 PM IST
maintain status quo in ayodhya says supreme court
ख़बर सुनें
सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को साफ किया है कि अयोध्या में विवादित स्थल के पास स्थित 67 एकड़ भूमि में यथास्थिति बरकरार रखी जाए। खुदाई की गतिविधियों के दौरान इस जमीन पर किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं की जानी चाहिए।
विज्ञापन
जस्टिस आफताब आलम व जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई की पीठ ने विवादित स्थल पर राम लला के अस्थायी मंदिर के तिरपाल और रस्सियों को बदलने की अनुमति और इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश के तहत 2003 से नियुक्त दो न्यायिक अधिकारियों को मुक्त करने के मुद्दे पर सुनवाई के दौरान यह टिप्पणी की। मामले की सुनवाई अब 18 फरवरी को होगी।

विज्ञापन

Recommended

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Crime Archives

यूपी: रामलीला मंच पर डांस करने को लेकर विवाद, गोलीबारी में किशोर घायल

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में रामलीला में डांस को लेकर लोगों में जमकर मारपीट हो गई। झगड़ा इतना बढ़ गया कि इस दौरान रामलीला मंच पर तोड़फोड़ कर दी और फायरिंग भी हुई। फायरिंग करते समय छर्रा लगने से एक किशोर घायल हो गया...

15 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

मध्य-प्रदेश सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने कैलाश विजयवर्गीय और हेमा मालिनी पर दिया बेतुका बयान

मध्य-प्रदेश सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने सड़कों के बहाने कैलाश विजयवर्गीय और भाजपा सांसद हेमा मालिनी को लेकर बेतुका बयान दिया है।

15 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree