बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

दबंगों ने रोका दलित युवती का दाह संस्कार

ब्यूरो/अमर उजाला, बड़ौत (बागपत) Updated Mon, 12 Jan 2015 07:54 AM IST
विज्ञापन
landlords deny to Funeral of backword people in their land in bagpat.
ख़बर सुनें
यूपी के बागपत जिले के बड़ौत-सिनौली गांव में दलित परिवार की एक किशोरी आशु का शव भी दबंगों के दिल को नहीं पसीज सका। दबंगई का अंदेशा इसी बात से लगाया जा सकता है कि परिजन युवती का शव लेकर दाह संस्कार के लिए नौ घंटे तक भटकते रहे। लेकिन लाठी-डंडे के जोर पर श्मशान घाट पर कब्जा कर लेने वाले दबंगों ने परिजनों को शव के दाह संस्कार की इजाजत नहीं दी।
विज्ञापन


गम में डूबे परिवार को युवती की अर्थी के साथ बड़ौत जाकर धरना देना पड़ा, तब जाकर बड़ी मुश्किल से उसकी चिता को आग मिल पाई। वो भी दबंगों के कब्जे वाली जगह पर नहीं, बल्कि गांव के ही दूसरे श्मशान घाट में।


जोर जबरदस्ती दिखाने वाले दबंगों के खिलाफ एक्शन लेने के बजाय पुलिस-प्रशासन ने दलितों को ही समझाया कि दूसरे श्मशान घाट में जाकर चुपचाप बेटी के शव का दाह संस्कार कर लें।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विधायक के उलझने के बाद हुआ अंतिम संस्कार

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X