जसवंत के तल्ख सुर, कांग्रेस जैसा हो जाएगा भाजपा का हश्र

अमर उजाला ब्यूरो/जयपुर Updated Mon, 24 Mar 2014 09:00 AM IST
विज्ञापन
Is politics a sale, me and my son is not salable

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
एनडीए सरकार में केन्द्रीय मंत्री सहित कई बड़े पदों पर रह चुके जसवंत सिंह को उनकी इच्छानुसार बाड़मेर लोकसभा सीट से टिकट नहीं मिला, जिससे भाजपा की राजनीति गर्मा गई है। जसवंत सिंह के समर्थकों ने उनके नाम से नामाकंन फॉर्म ले लिया है।
विज्ञापन


इससे उनके निर्दलीय चुनाव लडऩे की अटकलें जोर पकड़ती जा रही हैं। ऐसे माहौल के बीच वे शनिवार को जोधपुर पहुंचे। उन्होंने कहा कि 24 मार्च तक वे बाड़मेर पहुंचकर आगे की रणनीति के बारे में तय करेंगे।


अमर उजाला ने इस मौके पर उनसे बातचीत की, जिसमें उन्होंने स्पष्ट कहा कि दुखी मन से बात कर रहा हूं...
विज्ञापन
आगे पढ़ें

'जो कुछ मन में था, उन्हें भाजपा अध्यक्ष को बता दिया'

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X