देश के बेटों ने बनाया व्हाट्सऐप जैसा ऐप, विदेशों तक हो रहा इस्तेमाल

Anuj kumar Mauryaअनुज कुमार मौर्या Updated Thu, 15 Oct 2015 08:29 AM IST
विज्ञापन
indian students made go blue messenger

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
संगम नगरी के चार होनहार स्कूली छात्रों ने व्हाटस ऐप, हाइक जैसा गो ब्लू मैसेंजर (जीबी मैसेंजर) ऐप तैयार किया है। शहर के एमएल कान्वेंट स्कूल एंड कॉलेज के छात्र सुभांशु सिंह और विष्णु भगवान पब्लिक स्कूल के तीन छात्रों पीयूष आनंद, गोविंद सिंह एवं ऋषभ यादव ने मिलकर ऐसे मैसेंजर का विकास किया है, जिससे यूजर 1.5 जीबी तक की फाइल को इंटरनेट के जरिए आसानी से अपने साथी को भेज सकते हैं। इन छात्रों की ओर से विकसित ऐप की चर्चा देश ही नहीं विदेशों में भी शुरू हो गई है।
विज्ञापन

जीबी मैसेंजर ऐप तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले एमएल कान्वेंट के सुभांशु सिंह ने बताया कि तीन महीने पहले उन लोगों के मन में आया कि क्या वह व्हाट्स ऐप, हाइक जैसा ऐप तैयार नहीं कर सकते।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विदेशों में भी हो रहा इस्तेमाल

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us