चुमार सेक्टर में फिर कैमरा लगाएगा भारत

नई दिल्ली/एजेंसी Published by: Updated Sat, 13 Jul 2013 12:56 AM IST
विज्ञापन
india to redeploy surveillance camera in chumar sector on lac

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
भारतीय सेना की चीनी सैनिकों की नापाक हरकतों पर नजर रखने के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से लगते चुमार सेक्टर में फिर से निगरानी कैमरा लगाने की योजना है।
विज्ञापन


हाल ही में ऐसी खबरें आई थी कि 17 जून को घुसपैठ कर भारतीय सीमा में घुसे चीनी सैनिकों ने चुमार में बंकर तोड़ डाले थे और वहां पर लगा निगरानी कैमरा भी अपने साथ ले गए थे। भारत के विरोध दर्ज कराने पर 3 जुलाई को चीन ने कैमरा वापस कर दिया था।


उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि इस कैमरे का इस्तेमाल चुमार इलाके में चीनी सैनिकों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए किया जाता था। निगरानी कैमरा को फिर से उसी इलाके में लगाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि ऐसे कैमरे एलएसी से लगते कई जगहों पर लगाए गए हैं और इनके जरिए भारतीय सैनिक पीएलए सैनिकों पर नजर रख सकते हैं। खासकर चुमार इलाके में लगे कैमरे का इस्तेमाल भारतीय सैनिक कई बार अपने इलाके में चीनी सैनिकों की पेट्रोल पार्टी पर नजर रखने और रोकने के लिए करते हैं।

भारत और चीन एलएसी पर शांति बनाए रखने के लिए सीमा समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिए काम कर रहे हैं। पिछले कुछ महीनों के दौरान चीनी सैनिकों ने कई बार भारतीय सीमा में घुसपैठ की है।

रक्षा मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि रक्षा मंत्री एके एंटनी की चीनी नेतृत्व के साथ मुलाकात के दौरान घुसपैठ और अन्य घटनाओं का मसला उठाया गया था लेकिन इस दौरान किसी विशेष घटना पर जोर नहीं दिया गया।

पिछले ही महीने चीनी सैनिक लद्दाख के चुमार सेक्टर में घुस आए थे। इसके पहले अप्रैल में भी चीनी सैनिक वहां पर घुसपैठ कर कई दिनों तक तंबू गाड़कर कब्जा जमाए रहे थे।

जून माह में घुसपैठ के दौरान चीनी सैनिकों ने भारतीय सेना द्वारा निर्मित बंकरों को तहस नहस कर दिया और सीमा पोस्ट पर लगे कैमरों के तार भी काट दिए थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X