जानिए, महिला वर्ग की पीसीएस टॉपर रितु ने कैसे दिया इंटरव्यू

मुरादाबाद/पुनीत शर्मा Updated Fri, 12 Oct 2012 01:34 AM IST
How-did-womens-PCS-topper-Ritu-gave-Interviews
ख़बर सुनें
प्रतियोगी परीक्षा देने वाला हर छात्र यह जानना चाहता है कि कैसा रहा टॉपर का इंटरव्यू। कैसे-कैसे सवाल किए गए और किस सवाल का क्या जवाब दिया। बोर्ड का क्या रुख रहा और विषय से ज्यादा सवाल हुए या जनरल। इसे ध्यान में रखते हुए पीसीएस की मुख्य परीक्षा समाजशास्त्र और दर्शनशास्त्र से देने वाली महिला वर्ग की टॉपर रितु पूनिया के इंटरव्यू के मुख्य अंश हम यहां दे रहे हैं।
पुलिस अकादमी में डिप्टी एसपी की ट्रेनिंग कर रहीं रितु पूनिया का यह तीसरा इंटरव्यू था। दो इंटरव्यू का उनका अनुभव होने के बावजूद हल्की घबराहट चेहरे पर थी। तनाव लेकर वह इंटरव्यू कक्ष में गईं लेकिन पहले सवाल के बाद हिचकिचाहट दूर हो चुकी थी। फिर तो उन्होंने एक के बाद एक सवालों के सटीक जवाब देकर वाहवाही बटोरी। इन सवालों का जवाब देकर रितु बनी टॉपर-

सवाल: संस्कार क्या है
जवाब: सोलह संस्कार होते हैं। जन्म से मृत्यु तक हर संस्कार का अपना तरीका है।

सवाल: आचार्य शंकर का मोक्ष क्या है
जवाब: मोह माया का परदा हटते ही जब अज्ञानता रूपी अंधकार दूर होता है और ज्ञान की प्राप्ति हो जाती है तो वह आचार्य शंकर का मोक्ष है।

सवाल: पुरुषार्थ, आश्रम पद्धति, वेद व शास्त्र क्या हैं?
जवाब: हमारे ऋषि मुनियों ने जो पूजा अर्चना को महत्व दिया उससे एक नए समाज का निर्माण हुआ। यहां तक की पेड़ों में भी देवताओं का वास बताया गया। इसके पीछे मंशा थी पेड़ों का कटान न हो।

सवाल: महीनों के नाम हिंदी में क्या हैं
जवाब: चैत्र, बैशाख, ज्येष्ठ, आषाढ़, सावन, भादो, अश्विन, कार्तिक, अगहन, पूस, माघ और फाल्गुन।

सवाल: इस्लामिक कलेंडर के मुताबिक महीनों के नाम
जवाब: मोहर्रम, सफर, रबीउल अव्वल, रबी उलथानी, जुमादा अल अव्वल, जुमादा अल थानी, रजब, शाबान, रमजान, शव्वाल, जिलकादा, जिल हिज्जा

सवाल: अगर कोई 498 ए की पीड़िता आपके सामने समस्या लेकर आती है तो क्या करेंगी?
जवाब: तत्काल महिला की बात सुनेंगी। पहले तो कोशिश होगी कि महिला का घर बना रहे। जब ससुराल पक्ष के लोग नहीं मानेंगे तो कानूनी कार्रवाई करेंगे।

सवाल: महिलाओं के लिए क्या करेंगी और वह किन समस्याओं से जूझ रही हैं।
जवाब: महिलाओं की तीन समस्याएं हैं। अशिक्षा, दहेज और कन्या भ्रूण हत्या। वह समाज को जागरूक करेंगी। वह लोगों को बताएंगी कि आज लड़कियां किसी क्षेत्र में भी पीछे नहीं हैं।

सवाल: डिप्टी एसपी की नौकरी कैसी लगती है
जवाब: किसी को न्याय दिलाने का सबसे अच्छा माध्यम है खाकी। हम वरदी पहनकर हर रोज तमाम पीड़ितों की मदद कर सकते हैं।

सवाल: आज पुलिस की स्थिति खराब है लिहाजा कानून व्यवस्था को कैसे बेहतर बना सकते हैं
जवाब: दिक्कतें हर जगह हैं। पुलिस का मनोबल बढ़ाने की जरूरत है। अगर अधिकारी अपने कर्मचारी को साथ लेकर टीम भाव से काम करें तो इन हालातों को बेहतर बनाया जा सकता है।

सवाल: समाजीकरण क्या है। आज जो युवा वर्ग बिगड़ रहा है नैतिकता का स्तर गिर रहा है इसकी वजह क्या मानती हैं?
जवाब: परिवार वैल्यू खत्म हो रही है। मां बाप के पास बच्चों के लिए समय नहीं बचा। पहले लोग संयुक्त परिवारों में रहते थे। बच्चों पर दादा, दादी की निगाह होती थी। अब एकल परिवारों में कोई देखने वाला नहीं रह गया। दादा दादी की कहानियों की जगह फेसबुक आ गया। इंटरनेट पर पहुंच गया युवा वर्ग।

रितु का साक्षात्कार फरमान अली के बोर्ड ने लिया। पूरे पैंतालीस मिनट तक चलने वाले इंटरव्यू में गीता का दर्शन क्या है, क्या गीता के अनुसार मोक्ष संभव है। कालमार्क्स वाद का समाज वाद क्या है जैसे सवाल भी पूछे गए।

Recommended

Spotlight

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree