बलात्कारियों के चेहरे जल्द होंगे बेनकाब

नई दिल्ली/एजेंसी Updated Fri, 28 Dec 2012 01:09 AM IST
govt to prepare database of rape convicts
ख़बर सुनें
दुष्कर्म के मामलों में दोषी ठहराए जा चुके दरिंदों के चेहरे अब जल्द ही दुनिया के सामने ‘बेनकाब’ होंगे। दिल्ली में गैंगरेप की घटना पर बढ़ते गुस्से के मद्देनजर केंद्र सरकार ने देशभर में दुष्कर्म के दोषियों का एक डाटाबेस तैयार करके उसे इंटरनेट पर सार्वजनिक करने का फैसला किया है। इन दोषियों के नाम, तस्वीरें और पते भी इंटरनेट पर डाले जाएंगे।
गृह राज्यमंत्री आरपीएन सिंह ने बृहस्पतिवार को बताया कि नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) को एक डायरेक्टरी बनाने के लिए कहा गया है जिसमें देश में बलात्कार के मामलों में दोषी करार दिए गए अपराधियों की तस्वीरें, नाम-पते, ब्लड ग्रुप, पारिवारिक पृष्ठभूमि आदि का पूरा ब्योरा शामिल होगा। इस डाटाबेस को इंटरनेट पर डाला जाएगा।

एनसीआरबी इस संबंध में अपनी वेबसाइट कुछ ही महीनों में तैयार कर लेगा। उन्होंने बताया कि हम इसकी शुरुआत दिल्ली से करने की तैयारी कर रहे हैं। बलात्कारियों के नाम, पते और तस्वीरें दिल्ली पुलिस की वेबसाइट पर भी डाले जाएंगे। इसके बाद अन्य सभी राज्यों में भी इसी तरह के कदम उठाए जाएंगे।

मालूम हो कि गैंगरेप की घटना के बाद सरकार महिलाओं की सुरक्षा को बेहतर करने के लिए तमाम उपायों का ऐलान कर चुकी है। आरपीएन के इस ऐलान को भी उसी कवायद का हिस्सा माना जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम इस समस्या से निपटने को लेकर बहुत ही गंभीर हैं। इसके लिए हर संभव कदम उठाया जा रहा है।

गौरतलब है कि महिलाओं की सुरक्षा के उपाय सुझाने के लिए सरकार ने एक जांच आयोग का गठन किया है। इस आयोग से यह भी जांच करने को कहा गया है कि किन खामियों की वजह से दिल्ली गैंगरेप की घटना हुई। इसके अलावा महिलाओं के खिलाफ यौन अपराधों से संबंधित कानून की भी समीक्षा की जा रही है।  


Spotlight

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen