विज्ञापन

दिल्ली गैंगरेप पीड़ित युवती की हालत नाजुक

नई दिल्ली/ब्यूरो Updated Wed, 26 Dec 2012 10:06 PM IST
gangrape victim still critical no medical bulletin be issued
विज्ञापन
ख़बर सुनें
गैंगरेप के बाद बीते दस दिनों से जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही पीड़ित युवती की हालत बुधवार को नाजुक हो गई। युवती की लगातार बिगड़ती हालत से इलाज कर रहे चिकित्सक चिंतित नजर आए। मगर ना तो अस्पताल प्रशासन और ना ही डॉक्टरों की टीम से बात करने के लिए कोई मीडिया के सामने आया।
विज्ञापन
 
अस्पताल प्रशासन व पीड़ित युवती का इलाज कर रहे डॉक्टरों की टीम ने मेडिकल बुलेटिन भी जारी नहीं किया। डॉक्टरों की ओर से आखिरी बार मंगलवार शाम पांच बजे मेडिकल बुलेटिन जारी किया गया था। मंगलवार देर रात लड़की के हालत फिर बिगड़ने की खबर आई। इसके बाद डॉक्टरों की टीम के अलावा लड़की की हालत के बारे किसी और को कोई जानकारी नहीं है।

बुधवार को गुड़गांव मेदांता अस्पताल के डॉ. नरेश त्रेहन, दिल्ली जी. बी. पंत अस्पताल के जीआई सर्जरी विभाग के डॉ. अनिल अग्रवाल पीड़िता की स्वास्थ्य जांच के लिए सफदरजंग अस्पताल पहुंचे। मगर दोनों में से कोई बात करने के लिए सामने नहीं आया। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि युवती की हालत बिगड़ रही है।

बुधवार शाम को डॉक्टरों की टीम ने मेडिकल बुलेटिन जारी करने के लिए प्रेसवार्ता भी रद्द कर दिया। खबर लिखे जाने तक अस्पताल प्रशासन में वरिष्ठ चिकित्सकों, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों, पीड़ित युवती के परिजनों, वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बैठक चल रही थी।

मीडियाकर्मियों को किया बाहर सुरक्षा बढ़ाई
सफदरजंग अस्पताल में बुधवार दोपहर बाद सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। शाम को जारी होने वाला मेडिकल बुलेटिन की प्रेसवाता रद्द करने के बाद मीडियाकर्मियों को भी अस्पताल से बाहर निकाल दिया गया।

विरोध करने के बाद भी जबरन उन्हें अस्पताल से बाहर निकाला गया। सभी गेटों पर पुलिसकर्मी तैनात कर दिया गया है। गहन जांच के बाद लोगों को अस्पताल के अंदर प्रवेश दिया जा रहा है। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक कार्यालय के बाहर भी पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई है

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

कच्चे तेल के भंडार की संभावना पर लगाया जीपीएस

गंगा के तराई वाले इलाकों में कच्चे तेल के भंडार की तलाश कर रही ऑयल एंड नेचुरल गैस कमीशन (ओएनजीसी) की टीम ने तीन दिन में पांच किमी के दायरे में दो स्थानों पर डीप बोरिंग करने के बाद बांगरमऊ के अलेलखेड़ा गांव के पास अपना जीपीएस सिस्टम स्थापित किया।

14 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree