दिल्ली के पांच छात्र केरल की पेरियार नदी में डूबे

मलयतूर/एजेंसी Updated Thu, 27 Dec 2012 12:38 AM IST
 five NCC cadets from delhi drown in kerala periyar river
ख़बर सुनें
दिल्ली के पांच युवकों की बुधवार को केरल की पेरियार नदी में डूबने से मौत हो गई। ये पांचों एनसीसी कैडेट थे और एनसीसी के नेशनल ट्रैकिंग कैंप में हिस्सा लेने वहां गए थे। रक्षा मंत्री एके एंटनी ने घटना पर दुख जाहिर किया है। घटना की जांच के आदेश भी दिए गए हैं।
पुलिस ने बताया कि फोटो खींचने के दौरान दो युवक फिसल कर नदी में गिर गए। बाकी तीन युवकों ने उन्हें बचाने के लिए नदी में छलांग लगा दी। तभी एक भंवर में फंसकर डूबने से पांचों युवकों की जान चली गई। एनसीसी के लेफ्टिनेंट कर्नल मधुसूदन ने बताया कि कैंप में ट्रैकिंग के लिए कैडेट्स को रोजाना ले जाया जाता था।

बुधवार को उन्हें पेरियार नदी के पास स्थित मूलामकुझी इलाके के महागोनी वन में ले जाया गया था। लेकिन ये पांचों कैडेट फोटो खींचने के लिए नदी की तरफ चले गए थे। मधुसूदन ने कहा कि सभी एनसीसी कैंपों में यह आदेश दिए जाते हैं कि कोई भी कैडेट नदी या जलाशयों में नहीं जाएगा। इन लड़कों से भी कहा गया था कि वे पानी में नहीं जाएं। लेकिन वे कुछ तस्वीरें खींचने की बात कहकर चले गए।

मृत लड़कों की पहचान हेमंत (15), मोहम्मद जीशान (18), सबीश बाकरी (18), दिलशाद आलम (18) और गुलवेज अहमद (18) के तौर पर हुई है। हेमंत स्कूली छात्र था, जबकि जीशान, सबीश और दिलशाद जामिया मिलिया पॉलिटेक्निक के छात्र थे। गुलवेज शहीद भगत सिंह कॉलेज में पढ़ता था। छात्रों के शवों को सेना के विमान से दिल्ली लाया जा रहा है।

मालूम हो कि केरल के मलयतूर में ट्रैकिंग कैंप के लिए देशभर से 1000 से ज्यादा एनसीसी कैडेट जुटे हैं। आठ दिन चलने वाला यह कैंप 23 दिसंबर को शुरू हुआ है। इस कैंप में दिल्ली से 58 लड़के आए थे। एनसीसी की ओर से हर मृत युवक के परिवार को 3.5 लाख रुपये की मदद का ऐलान किया गया है।

Spotlight

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen