मोदी रहें चौकन्ना, बनारस का ये वर्ग दे सकता है बड़ी टेंशन

एम के वेणु/अमर उजाला, वाराणसी Updated Mon, 05 May 2014 08:53 AM IST
विज्ञापन
fight for varanasi lok sabha seat between modi and kejriwal

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
वाराणसी दुनिया के सबसे पुराने और लगातार जीवंत रहने वाले शहरों में शुमार है। यह खासा तेवर वाला शहर है। वाराणसी के लोगों के साथ एक खासी बौद्धिक परंपरा जुड़ी है। असहमति और बहस इस परंपरा के अहम तत्व हैं। काशी की चेतना का यही वह खास पहलू है, जो यहां चुनाव लड़ने वाले किसी भी उम्मीदवार में घबराहट पैदा कर सकता है।
विज्ञापन

वाराणसी के वोटर भाजपा के पीएम उम्मीदवार को एक मौका देना चाहते हैं। उन्हें अगर कोई थोड़ी चुनौती देता नजर आता है तो वह हैं अरविंद केजरीवाल। केजरीवाल यहां के विचारशील लोगों के एक बड़े समूह को भा सकते हैं। इसलिए अच्छे-खासे समर्थन के बावजूद मोदी को यहां चौकन्ना रहना होगा। अगर मोदी जीतते भी हैं तो केजरीवाल उनकी जीत के अंतर को कम कर सकते हैं।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

मोदी के खिलाफ केजरीवाल को समर्थन

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us