बेटी से पिता ने किया दुष्कर्म, दस साल की कैद

नई दिल्ली/ब्यूरो Updated Fri, 25 Jan 2013 10:33 AM IST
विज्ञापन
father raped daughter, get ten years imprisonment

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
कड़कड़डूमा स्थित विशेष फास्ट ट्रैक कोर्ट ने नाबालिग बेटी से दुष्कर्म के मामले में उसके पिता को दोषी करार दिया है। अदालत ने दोषी को दस साल कैद व दस हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। दोषी ने वर्ष 2011 में बेटी के दुष्कर्म को अंजाम दिया था।
विज्ञापन


अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश टी आर नवल की अदालत ने आरोपी तिलक राज को दोषी करार दिया। अदालत ने पीड़िता व उसके भाई की गवाही के आधार पर आरोपी को दोषी माना। पीड़िता का भाई मामले का एकमात्र चश्मदीद गवाह था।


पुलिस के मुताबिक तिलक राज ने 25 नवंबर 2011 को अपनी 14 वर्षीय बेटी के साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता की मां ने बेटी के गुम होने की सूचना पुलिस को दी थी। पीड़िता की मां दो दिन उसे लेकर थाने गई।

पीड़िता ने कहा कि जब उसकी मां कोलकाता गई थी तब उसके पिता ने उससे दुष्कर्म किया। इस कारण वह घर से चली गई थी और अपनी सहेली के घर पर रह रही थी। पुलिस ने इस बयान के आधार पर एक दिसंबर 2011 को तिलक राज को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज किया था।

केस की सुनवाई के दौरान तिलक राज ने कहा कि उसे पीड़िता व उसकी मां ने झूठे मामले में फंसाया है क्योंकि वह उनकी गलत हरकतों का विरोध करता था। आरोपी तिलक राज को दोषी मानते हुए अदालत ने कहा कि पीड़िता का बयान भरोसे लायक है और साक्ष्यों से यह साबित होता है कि उसने अपनी बेटी से दुष्कर्म किया था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X