बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

गमजदा भाई ने मांगा अफजल का शव

नई दिल्ली/इंटरनेट डेस्क Updated Sat, 09 Feb 2013 03:01 PM IST
विज्ञापन
family demands afzal gurus body

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
संसद हमले के दोषी अफजल गुरु को शनिवार सुबह फांसी दिए जाने के बाद उसके घर वालों ने सरकार से अफजल के शव को देने की मांग की। लेकिन केंद्र सरकार ने कानून व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए अफजल के शव को तिहाड़ जेल में ही दफन करा दिया है।
विज्ञापन


फांसी दिए जाने के बाद अफजल गुरु के भाई मुश्ताक अहमद गुरु ने अपने भाई के शव को घरवालों के सुपुर्द करने की मांग की थी। उसने कहा कि गृह मंत्रालय ने फांसी दिए जाने के बारे में उसके परिवार को कोई सूचना नहीं दी थी।


हालांकि केंद्रीय गृह सचिव आर के सिंह का कहना है कि अफजल गुरु को फांसी दिए जाने के बारे में उसके घरवालों को शुक्रवार को ही सूचित कर दिया गया था।

अफजल गुरु जम्मू-कश्मीर के सोपोर का रहने वाला था इसलिए फांसी की कार्यवाही को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर सरकार को पहले ही सुरक्षा व्यवस्था कडी़ करने का सुझाव दे दिया था। जिसके तहत शनिवार सुबह से ही श्रीनगर समेत कई जगहों पर कर्फ्यू लगा दिया गया है।

जम्मू में भी हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। शब्बीर शाह सहित कई अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है। केबल, एसएमएस और इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया है।

50 वर्षीय अफजल गुरु को 13 दिसंबर, 2001 को भारतीय संसद पर हुए सशस्त्र हमले के लिए दोषी ठहराया गया था। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us