विज्ञापन

ननद-भाभी ने सूखे बुंदेलखंड को किया खुशियों से तर

नई दिल्ली/प्रियंवदा सहाय Updated Thu, 08 Aug 2013 01:43 AM IST
drought hit bundelkhand
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पानी की बूंद-बूंद को तरसते सूखाग्रस्त बुंदेलखंड के एक गांव को ननद-भाभी की जोड़ी ने खुशियों से तर कर दिया है। इनके अथक प्रयास का ही नतीजा है कि आज यह गांव कुपोषण मुक्त हो चुका है।
विज्ञापन
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता विमला और उसकी ननद कल्पना ने ललितपुर के राजघाट गांव को ढाई वर्ष के अंदर कुपोषण मुक्त बना दिया है। अब यहां कोई भी बच्चा कुपोषण का शिकार होकर नहीं मरता।

इनकी बदौलत यहां के प्रत्येक परिवार को बच्चों के लालन-पालन, पोषण की पूरी जानकारी हो चुकी है। यह दोनों स्वास्थ्य देखभाल और उनसे जुड़ी जानकारियों को बड़ी सरलता से घर-घर पहुंचाने का काम कर रही हैं।

इसी वजह से रूढ़िवादी परंपराएं और कुप्रथाएं भी धीरे-धीरे दम तोड़ रही हैं।

भाभी और ननद की यह जोड़ी पहली बार रेल से सफर कर दिल्ली आई है। वे बताती हैं कि उनके प्रयासों के बदौलत राजघाट गांव में अब कोई भी बच्चा कुपोषण का शिकार नहीं है।

असामाजिक तत्वों ने रोका रास्ता
विमला और कल्पना को गांव के असामाजिक तत्वों ने रोकने की कोशिश की। बड़े-बुजुर्गों का ताने भी सुनने पड़े। लेकिन अब गांव में हालात बदल चुके हैं।

भयावह है स्थिति
यूनिसेफ के मुताबिक देश में 15 लाख बच्चे अपना पांचवां जन्मदिन मनाने से पहले मौत के आगोश में सो जाते हैं। इस मामले में यूपी अव्वल है, जहां 42% बच्चों की मौत कुपोषण के चलते हो जाती है।

उत्तर प्रदेश में केवल 51% बच्चों को ही माताएं 6 महीने तक स्तनपान करा पाती हैं। जबकि दो साल तक स्तनपान की अनिवार्यता पर जोर दिया जाता है।

2005-06 के आंकड़ों के मुताबिक भारत में 48% बच्चे पोषण की कमी से अविकसित हुए।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

बारावफात को लेकर पीस कमेटी की बैठक हुई

बारावफात को लेकर थाना परिसर में एसडीएम सदर ने पीस कमेटी की बैठक ली, जिसमें कोई भी नई परंपरा न डालने की हिदायत दी गई।

16 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree