'बर्दवान ब्लास्ट' में हुआ बेहद खतरनाक खुलासा

Harendra Singh Moral Updated Tue, 31 Mar 2015 09:06 AM IST
dangerous disclosed in Burdwan Blast
ख़बर सुनें
बर्दवान ब्लास्ट में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को आरोपपत्र दायर करते हुए अहम खुलासा किया है। एजेंसी ने आरोपपत्र में कहा है कि बांग्लादेशी आतंकवादी यहां बने बमों की सहायता से बांग्लादेश सरकार का तख्ता पलट कर वहां शरीयत कानून के तहत सत्ता स्थापित करना चाहते थे।
एजेंसी ने मामले में चार बांग्लादेशियों सहित 21 लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया है। एजेंसी ने अभियुक्तों पर आतंकी गतिविधि, षड्यंत्र रचने, भर्ती, आतंकी शिविर चलाने और फंडिंग करने, हथियारों और विस्फोटकों की बरामदगी, फर्जीवाड़ा, विदेशी और पासपोर्ट अधिनियम के तहत आरोप लगाए गए हैं।

एनआईए ने इस मामले में अब तक 17 लोगों को गिरफ्तार किया है। बीते साल दो अक्तूबर को बर्दवान के खागड़ागढ़ इलाके के एक मकान में हुए विस्फोट में दो लोग मारे गए थे।
आगे पढ़ें

एनआईए ने 21 के खिलाफ दायर की चार्जशीट

RELATED

Spotlight

Most Read

India News Archives

पहली बार बांग्लादेश की धरती से विद्रोहियों के ठिकाने पूरी तरह से साफ: BSF

भारत की पूर्वी सीमा पर दशकों से चले आ रहे सीमा पार विद्रोही शिविरों को लेकर एक अहम जानकारी आई है।

18 दिसंबर 2017

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen