बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

सोशल मीडिया पर जनाक्रोश से जुड़ा कंटेट ब्लॉक

नई दिल्ली/धीरज कनोजिया Updated Tue, 12 Feb 2013 10:45 AM IST
विज्ञापन
content block of public outrage on social websites

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
दूरसंचार विभाग ने गहरी नींद से जागते हुए अब सोशल नेटवर्किंग वेबसाइटों पर शिकंजा कसा है। दरअसल, सरकार के निर्देश पर इंटरनेट सेवा देने वाली कंपनियों ने फेसबुक और ट्विटर जैसी सोशल नेटवर्किंग वेबसाइटों पर अपलोड ऐसी तस्वीरों और टिप्पणियों को ब्लॉक करना शुरू कर दिया है, जिससे लोगों का गुस्सा भड़कने की संभावना है।
विज्ञापन


विभाग के निर्देश पर फेसबुक ने महाकुंभ में भगदड़ में पीड़ितों की तस्वीरों वाले कई पेज ब्लॉक भी कर दिए हैं। विभाग के सूत्रों का कहना है कि अफजल की फांसी को लेकर भी इस तरह के निर्देश दिए गए है।


दूरसंचार विभाग के सूत्रों के मुताबिक सभी इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर को कहा गया है कि वे अफजल की फांसी और महाकुंभ में हुई भगदड़ से संबंधित ऐसी सामग्री को तुरंत साइट से हटा दें, जिससे लोगों का गुस्सा भड़क सकता हो। विभाग के निर्देश पर फेसबुक ने अमल किया है। फेसबुक ने महाकुंभ में भगदड़ के दौरान ली गई तस्वीरों को हटाया है।

तस्वीरों वाले पेज पर बाकायदा लिखा गया है कि यह पेज दूरसंचार विभाग के निर्देश पर हटाया गया है। हालांकि यह रोक सिर्फ भारत स्थित सर्वर पर ही लागू हो सकेगी। यानी कि हटाए गए पेज को विदेश स्थित सर्वर के जरिए आसानी से देखा जा सकता है। प्रॉक्सी सर्वर के जरिए इसे भारत में भी देखा जा सकता है।

दूरसंचार विशेषज्ञ पवन दुग्गल कहते है कि सरकार के निर्देश पर अमल करते हुए सर्विस प्रोवाइडर सिर्फ भारतीय सर्वर से इसे हटा देते है मगर विदेशी सर्वर पर यह जस के तस रहते है। भारत सरकार चाह कर भी इन सेवा देने वाली कंपनियों पर कार्रवाई नहीं कर सकती क्योंकि वह विदेशी सर्वर की वजह से विदेशी कानूनों से बंधी हुई है न कि भारतीय कानून से।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us