विज्ञापन
विज्ञापन

येदियुरप्पा समर्थक भाजपा विधायकों के इस्तीफे स्वीकार

बंगलूरू/एजेंसी Updated Tue, 29 Jan 2013 11:57 PM IST
bs yeddyurappa removed from party presidentship
ख़बर सुनें
कर्नाटक में दिनभर चले ड्रामे के बीच विधानसभा अध्यक्ष केजी बोपैया ने मंगलवार देर रात भाजपा के 12 बागी विधायकों के इस्तीफे स्वीकार कर लिए। इन विधायकों ने कर्नाटक जनता पार्टी (केजीपी) नेता बीएस येदियुरप्पा के समर्थन में त्यागपत्र दिया। हालांकि प्रदेश में सत्तारूढ़ मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार की सरकार को तत्काल कोई खतरा नहीं है। इस बीच केजीपी के पूर्व संस्थापक ने पूर्व मुख्यमंत्री को पार्टी के अध्यक्ष पद से हटा दिया है।
विज्ञापन
13 विधायकों ने मंगलवार को दिन में विधान सुधा स्थित कार्यालय में बोपैया से मुलाकात की थी और विधानसभा की सदस्यता से त्यागपत्र सौंपे थे। शुरुआत में बोपैया ने बागी विधायकों के त्यागपत्र को स्वीकार किए जाने के निर्णय को टाल दिया था। त्यागपत्र स्वीकार किए जाने की मांग को लेकर बागी विधायक स्पीकर के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए थे। येदियुरप्पा ने स्पीकर के कदम की आलोचना करते हुए इसे लोकतंत्र की हत्या करार दिया था।

कई घंटों के ड्रामे के बाद 12 विधायकों के इस्तीफे स्वीकार किए गए। तकनीकी कारणों की वजह से विट्टाला कटाकाडोंडा का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया। भाजपा ने सोमवार को ही पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते इन विधायकों को अयोग्य घोषित किए जाने की याचिका स्पीकर को दी थी।

यह घटनाक्रम प्रदेश में 4 फरवरी से शुरू होने वाले बजट सत्र से कुछ दिन पहले हुआ है। हालांकि इससे छह माह पुरानी शेट्टार मंत्रिमंडल को तत्काल कोई खतरा नहीं है। 224 सदस्यीय विधानसभा में इन 12 विधायकों के इस्तीफे और 2 अन्य खाली सीटों को घटाकर मौजूदा आंकड़ा 210 होता है।

विधानसभा में अब भाजपा के विधायकों की संख्या 105, कांग्रेस के 71, जेडीएस के 26 और निर्दलीय सात विधायक हैं। एक निर्दलीय विधायक सरकार का समर्थन कर रहा है। इसके अलावा स्पीकर है। ऐसे में भाजपा आसानी से बहुमत साबित कर सकती है।

इस बीच येदियुरप्पा को अपनी ही पार्टी की ओर से जोर का झटका लगा है। कर्नाटक जनता पार्टी (केजीपी) के संस्थापक अध्यक्ष पदमनाभा प्रसन्ना ने चुनाव आयोग को एक पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि पार्टी की कार्यकारिणी की आपात बैठक 20 दिसंबर 2012 को हुई। इस बैठक में प्रदेश इकाई अध्यक्ष पद के लिए येदियुरप्पा को नामित किए जाने के फैसले को वापस लिए जाने का निर्णय लिया गया।

येदियुरप्पा को कोर्ट में पेश होने का आदेश
सीबीआई कोर्ट ने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और उनके दो बेटों को अवैध खनन रिश्वत मामले में 23 मार्च को पेश होने का आदेश दिया है। व्यक्तिगत रूप से कोर्ट में पेश होने से छूट संबंधी याचिका को मंजूर करते हुए सीबीआई कोर्ट के प्रधान जज डीए वेंकट सुदर्शन ने येदियुरप्पा और उनके दो बेटों बीवाई विजयेंद्र तथा बीवाई राघवेंद्र को बिना किसी विफलता के 23 मार्च को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री के दामाद आरएन सोहन कुमार और पूर्व मंत्री कृष्णैया शेट्टी समेत अन्य आरोपी कोर्ट में मौजूद थे।
विज्ञापन

Recommended

vivo Grand Diwali Fest: vivo के स्मार्टफोन पर 11,000 रुपये तक की छूट
vivo smartphone

vivo Grand Diwali Fest: vivo के स्मार्टफोन पर 11,000 रुपये तक की छूट

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

अमर उजाला के संपादक डॉक्टर इंदुशेखर पंचोली को मातृ शोक

प्रमुख साहित्यकार और शिक्षाविद डॉक्टर बद्रीप्रसाद पंचोली की धर्मपत्नी एवं अमर उजाला दिल्ली के संपादक डॉ. इंदुशेखर पंचोली की माताजी श्रीमती कमला पंचोली का बुधवार तड़के अजमेर में निधन हो गया। वे 80 वर्ष की थीं।

2 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

बिहार के सहरसा में आरजेडी की रैली में हाथापाई, मंच से सब देखते रहे तेजस्वी यादव

बिहार के सहरसा में राष्ट्रीय जनता दल की रैली में हंगामा और जमकर हाथापाई हुई। जिसके बाद पुलिस को हालात काबू में करने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। वहीं तेजस्वी यादव मंच से ये सब देखते रहे।

13 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
)