बाबरी विध्वंसः लोकसभा में लहराया काला झंडा

नई दिल्ली/इंटरनेट डेस्क Updated Thu, 06 Dec 2012 12:18 PM IST
black flags waved in parliament babri masjid demolition
बाबरी मस्जिद गिराने के दोषियों को सजा दिलाने की मांग को लेकर आज लोकसभा में काला झंडा दिखाया गया। सदस्यों के हंगामे और नारेबाजी के कारण लोकसभा में प्रश्नकाल नहीं हो सका और कार्यवाही स्थगित कर दी गई।

आज सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होते ही बहुजन समाज पार्टी के शफीकुर्रहमान बर्क अपनी सीट से खडे होकर काला झंडा लहराने लगे। मजलिस इत्तहादुल मुसलमीन के असदुद्दीन औवेसी समेत कई सदस्य भी उनके समर्थन में खडे हो गए।

भारतीय जनता पार्टी के सदस्यों ने इस पर कड़ा एतराज किया। वे सदन के अंदर काला झंडा दिखाने पर बर्क के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए अध्यक्ष के आसन के सामने आकर नारेबाजी करने लगे।

अध्यक्ष मीरा कुमार ने सदस्यों से शांत होने का आग्रह करते हुए कहा कि उन्होंने एफडीआई पर चर्चा के बाद प्रश्नकाल चलने देने का वायदा किया था।

उन्होंने कहा कि अब चूंकि एफडीआई पर चर्चा पूरी हो चुकी है इसलिए उन्हें प्रश्नकाल में बाधा नहीं डालनी चाहिए। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि सदस्य चाहें तो शून्यकाल के दौरान यह मामला उठा सकते हैं।

लेकिन उनके इस प्रस्ताव का शोरशराबा कर रहे सदस्यों पर कोई असर नहीं हुआ। इसके बाद अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही दोपहर तक के लिए स्थगित कर दी।

Spotlight

Most Read

India News Archives

पहली बार बांग्लादेश की धरती से विद्रोहियों के ठिकाने पूरी तरह से साफ: BSF

भारत की पूर्वी सीमा पर दशकों से चले आ रहे सीमा पार विद्रोही शिविरों को लेकर एक अहम जानकारी आई है।

18 दिसंबर 2017

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper