भाजपा को भा रहा है ममता का हमलावर रुख

Ruchir Shukla Updated Mon, 01 Dec 2014 12:11 PM IST
BJP Chief Amit Shah Dares Mamta Banerjee in West Bengal
ख़बर सुनें
पश्चिम बंगाल की राजनीति में खुद की नंबर दो की हैसियत बनाने में जुटी भाजपा को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पार्टी के प्रति हमलावर रुख भा रहा है।
भाजपा-तृणमूल कांग्रेस के बीच लगातार हो रही सीधी सियासी जंग से राज्य में न केवल वाम दल और कांग्रेस सियासी दांवपेंच में पीछे छूट रहे हैं, बल्कि भाजपा को राज्य में रणनीति के मुताबिक ही व्यापक प्रचार भी मिल रहा है।

खासतौर से बीते दिनों पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को कोलकाता में रैली करने की इजाजत न मिलने से भी भाजपा रणनीतिकार खुश हैं। दरअसल भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस और उसकी मुखिया ममता बनर्जी को मुस्लिम तुष्टिकरण और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर घेरने की रणनीति बनाई है।

इसके तहत पार्टी जहां राज्य भर में इमाम को वेतन मिलने, राज्य में आतंकवाद के फलने फूलने के मुद्दे को जोरशोर से उठा रही है, वहीं शारदा चिट फंड मामले में सीधे ममता पर हमला बोल उनकी ईमानदार छवि को तार तार करने में जुटी है।

पार्टी के रणनीतिकारों को लगता है कि चूंकि राज्य की सियासत में फिलहाल तृणमूल और भाजपा में ही सीधी सियासी भिड़ंत दिख रही है, ऐसे में लोकसभा चुनाव में तीसरे स्थान पर रहने वाली भाजपा अगले विधानसभा चुनाव में वाम दलों को पीछे छोड़ कर राज्य की दूसरी ताकत बन सकती है।
आगे पढ़ें

ममता को चौतरफा घेरने की है रणनीति

RELATED

Spotlight

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

Recommended

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen