बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

अपनी मौत से बेखौफ था आतंकी अफजल गुरु

नई दिल्ली/इंटरनेट डेस्क Updated Sat, 09 Feb 2013 11:41 AM IST
विज्ञापन
afzal guru hanged in tihar jail

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
संसद पर हमले का मास्टरमाइंड अफजल गुरु को आखिरकार फांसी दे दी गई। जैश-ए-मुहम्मद के खूंखार आतंकी अफजल गुरु पिछले 11 साल से तिहाड़ जेल के एक अति सुरक्षित सेल में कैद था। तिहाड़ जेल में फांसी दिए जाने के पूर्व तक वह मौत से बेखौफ था।
विज्ञापन


तिहाड़ जेल में अफजल को 16 गुणा 12 फुट के बैरक नंबर- 3 में कड़ी सुरक्षा के बीच रखा गया था। फांसी देने से पहले आज सुबह से ही तिहाड़ जेल में हलचलें तेज हो गई थीं। अफजल इस बात से तनिक भी विचलित नहीं हुआ था कि यह सब हलचल उसे फांसी के फंदे पर लटकाने के लिए हो रही है।


जेल के अधिकारियों ने बताया कि अफजल शांति के साथ फांसी के फंदे तक गया और उस समय वह बेहद शांतचित्त था। अधिकारी ने बताया कि गुरु के परिवार को उसे फांसी दिए जाने के बारे में बता दिया गया था।

जेल अधिकारियों के अनुसार अफजल अन्य बंदियों की तरह ही समय गुजारता था लेकिन उसे अन्य कैदियों से अलग अति सुरक्षित सेल में रखा गया है जहां 50 हथियारबंद जवान उसकी सुरक्षा में तैनात थे।

गौरतलब है कि संसद पर हमले के दोषियों को फांसी पर लटकाने की मांग लंबे अरसे से मांग की जा रही थी। इससे पहले मुंबई हमले का इकलौता जिंदा आरोपी आमिर अजमल कसाब को भी गुपचुप तरीके से फांसी दी गई थी। अफजल गुरु 13 दिसंबर 2001 को संसद पर हमले का मास्टरमाइंड था। संसद में घुसे जैस-ए-मोहम्मद के पांच आतंकियों के हमले में 9 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे।  


आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us