सुभाष चंद्र बोस पर मोदी सरकार की पलटी

Ruchir Shukla Updated Mon, 01 Dec 2014 12:28 PM IST
Files on Netaji Subhash Chandra Bose will not be made Public - Modi Government Says NO
ख़बर सुनें
केंद्र की भाजपा नेतृत्व वाली सरकार ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के रहस्यमय ढंग से लापता होने से जुड़ी 39 गोपनीय फाइलों को सार्वजनिक करने से इनकार कर दिया है। विपक्ष में रहते हुए भाजपा नेताजी के लापता होने और उससे जुड़े तथ्यों को सार्वजनिक करने की मांग करती रही है।
इसी वर्ष जनवरी में लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान के दौरान तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने नेताजी की 117वीं जयंती के मौके पर उनके जन्मस्थान कटक में यूपीए सरकार से मांग की थी कि महान स्वतंत्रता सेनानी से जुड़े रिकार्ड देश की जनता के सामने लाया जाए।

पीएमओ ने हाल में ही इस संबंध में आरटीआई के जरिए मांगी गई जानकारी के जवाब में स्वीकार किया कि बोस से जुड़ी 41 फाइलें हैं, जिनमें से दो सार्वजनिक की जा चुकी हैं।  लेकिन वर्तमान सरकार ने भी पिछली सरकार की तरह बाकी फाइलों को जगजाहिर करने से इनकार कर दिया।
आगे पढ़ें

सरकार के रूख में आया बदलाव

RELATED

Spotlight

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen