अफ्सपा कानून लोकतंत्र के खिलाफ: हबीबुल्लाह

नई दिल्ली/एजेंसी Updated Sun, 27 Jan 2013 10:38 PM IST
विज्ञापन
afspa law is against democracy said habibullah

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष वजाहत हबीबुल्लाह ने रविवार को कहा कि अफ्सपा कानून लोकतंत्र और संविधान के खिलाफ है। यदि इस कानून को अशांत इलाकों से नहीं हटाया जा सकता तो सेना से बातचीत कर इसकी खामियां दूर की जानी चाहिए।
विज्ञापन


वे जस्टिस वर्मा कमेटी की सिफारिशों पर अपनी राय जाहिर कर रहे थे, जिनमें कहा गया है कि महिलाओं का यौन शोषण करने वाले सेना या पुलिस कर्मियों को अफ्सपा कानून के तहत संरक्षण नहीं मिलना चाहिए।


हबीबुल्लाह ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में ऐसे कानून नहीं होने चाहिए। बलात्कारियों को फांसी न देने की वर्मा कमेटी की सिफारिश पर उन्होंने सहमति जताई। उन्होंने कहा कि पांच जनवरी को वर्मा कमेटी को दिए अपने सुझावों में उन्होंने बलात्कारियों को फांसी देने का विरोध किया था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X