आर्थिक तंगी से जूझ रहे एलयू ने सिर्फ परंपरा निभाने के लिए बांट दिए 54 लाख रुपये

ब्यूरो/अमर उजाला, लखनऊ Updated Wed, 15 Nov 2017 04:50 PM IST
lu management distributed 54 lakh to its employees
लखनऊ विश्वविद्यालय - फोटो : अमर उजाला
लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन हमेशा आर्थिक तंगी का रोना रोता है। इसके बावजूद बिना किसी नियम के कर्मचारियों को करीब 54 लाख रुपये बांट दिये गए। यह रकम पारिश्रमिक के नाम पर दी गई है। सिर्फ परंपरा के तौर पर कर्मचारियों को इस राशि का भुगतान किया जाता है। 

इस साल हर कर्मचारी को 3150 रुपये दिये गए हैं। विवि के कला संकाय के डीन प्रो. पीसी मिश्रा और पूर्व कार्यकारी वित्त नियंत्रक प्रो. पीसी मिश्रा इसे पूरी तरह से नियम विरुद्ध बताते हैं। दूसरी तरफ कुलपति ने भी भविष्य में बिना पॉलिसी इस तरह के भुगतान न करने की बात कही है।

लविवि के सामान्य संचालन में करीब 140 करोड़ रुपये का खर्च आता है। अकेले वेतन मद में ही 130 करोड़ रुपये का खर्च होते हैं। प्रदेश सरकार ने 20 साल पहले विवि का बजट फ्रीज कर दिया है। इस वजह से विवि को पिछले 20 साल से सालाना सिर्फ 45 करोड़ रुपये ही दिए जाते हैं। 

लविवि को इसी से शिक्षक-कर्मचारियों का वेतन, वार्षिक रख-रखाव तथा मरम्मत आदि की व्यवस्था करनी होती है। तंगहाली का आलम यह होता है कि विवि के वित्त नियंत्रक को हर महीने शिक्षकों और कर्मचारियों का वेतन देने के लिए काफी गुणा-भाग करना पड़ता है। इसके बावजूद विवि में पारिश्रमिक के नाम पर कर्मचारियों को लाखों रुपये बांट दिये गए हैं।

विद्यार्थियों के हक का पैसा
विवि प्रशासन स्टूडेंट्स को सुविधा देने के नाम पर बजट का रोना रोता है। छात्रसंघ चुनाव, पुअर बॉयज फंड, ग्रुप इंश्योरेंस आदि के नाम पर फीस वसूलने के बावजूद छात्रों को इनकी सुविधा नहीं दी जाती है। इन मदों में विवि हर साल एक करोड़ रुपये से ज्यादा जुटाता है और विद्यार्थियों के हक का पैसा कर्मचारियों में बांट दिया जाता है।
आगे पढ़ें

अनुदान फ्रीज होने की मुख्य वजह वित्तीय अनियमितता

Spotlight

Most Read

Shimla

तलवारबाजी में हिमाचल ने किया शानदार प्रदर्शन, झटके चार पदक

25वीं राष्ट्रीय तलवारबाजी स्पर्धा में हिमाचल के खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन कर चार पदक हासिल कर सूबे का नाम चमकाया है।

16 जनवरी 2018

Related Videos

सोशल मीडिया ने पहले ही खोल दिया था राज, 'भाभीजी' ही बनेंगी बॉस

बिग बॉस के 11वें सीजन की विजेता शिल्पा शिंदे बन चुकी हैं पर उनके विजेता बनने की खबरें पहले ही सामने आ गई थी। शो में हुई लाइव वोटिंग के पहले ही शिल्पा का नाम ट्रेंड करने लगा था।

15 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper