यूपीसीईटी : 48 घंटे बाद भी काउंसिलिंग पर निर्णय नहीं, एकेटीयू के दो अफसरों ने दिल्ली में डाला डेरा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Tue, 12 Oct 2021 11:24 AM IST

सार

यूपीसीईटी में 48 घंटे बाद भी काउंसलिंग पर निर्णय नहीं हो सका है। एनटीए के अधिकारियों से इस संबंध में कई बार वार्ता हो चुकी है।
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : पीटीआई
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

उत्तर प्रदेश के इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट व फार्मेसी संस्थानों में दाखिले के लिए चल रही काउंसिलिंग स्थगित हुए 48 घंटे से अधिक बीते गए, लेकिन इस पर कोई निर्णय नहीं हो सका है। हालांकि समस्या सुलझाने के लिए डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) के दो अधिकारियों ने दिल्ली में डेरा डाल दिया है। वे नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के अधिकारियों के साथ कई बार वार्ता कर चुके हैं। मंगलवार तक समाधान निकलने की उम्मीद है।
विज्ञापन


यूपीसीईटी समन्वयक प्रो. अरुण कुमार तिवारी व उप समन्वयक डॉ. पुष्कर त्रिपाठी सोमवार सवेरे दिल्ली पहुंचे। वहां उन्होंने एनटीए के अधिकारियों से कई दौर की बातचीत में जानने की कोशिश की किन-किन कोर्सों में और किस स्तर पर रैंक में गड़बड़ी हुई है। अगर यह गड़बड़ी व्यापक स्तर पर है तो इसमें बदलाव किस तरह किया जाएगा, कोई रास्ता निकाला जा सकता है। क्योंकि अभी तक इसके बारे में एनटीए ने विश्वविद्यालय को कोई जानकारी नहीं दी है।


यही वजह है कि एकेटीयू भी अभ्यर्थियों को कोई अपडेट नहीं दे सका है। विवि मामले में पूरी तरह से एनटीए के ऊपर निर्भर है। दूसरी ओर विद्यार्थी काउंसिलिंग को लेकर विवि के चक्कर लगा रहे हैं। इस बारे में कुलपति प्रो. विनीत कंसल ने कहा कि इंतजार करना संभव नहीं था। इसलिए दो अधिकारियों को दिल्ली भेजा गया है।

जो भी अपडेट होगा, उससे विद्यार्थियों को तत्काल अवगत कराया जाएगा। गौरतलब है कि एकेटीयू ने बीटेक व बीफार्मा की रैंक में गड़बड़ी सामने आने के बाद नौ अक्तूबर देर शाम से काउंसिलिंग और फिजिकल रिपोर्टिंग स्थगित कर दी थी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00