विज्ञापन

बढ़ सकती है लखनऊ यूनिवर्सिटी की फीस, ये है वजह

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Tue, 06 Feb 2018 03:42 PM IST
लखनऊ यूनिवर्सिटी
लखनऊ य‌ूनिवर्सिटी - फोटो : demo pic
विज्ञापन
ख़बर सुनें
आर्थिक तंगी से जूूझ रहे लखनऊ विश्वविद्यालय में अगले शैक्षिक सत्र से फीस बढ़ना लगभग तय है। विवि में नए सत्र से सभी पाठ्यक्रमों में सेमेस्टर प्रणाली लागू होनी है। ऐसे में विवि को साल में दो बार परीक्षा करानी होगी। ये वजहें गिनवाते हुए विवि ने इस साल फीस बढ़ाने की बात कही है।
विज्ञापन
फीस कितने फीसदी बढ़ेगी, अभी इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है। कुलपति की अध्यक्षता में नौ फरवरी को सभी संकाय व विभागाध्यक्षों की बैठक बुलाई गई है। इसमें सेमेस्टर सिस्टम लागू करने के साथ ही फीस बढ़ोत्तरी पर भी फैसला होगा।
प्रस्ताव वित्त समिति को भेजा जाएगा।

उसकी मुहर लगने के बाद नई फीस लागू की जाएगी। लविवि मेें शैक्षिक सत्र 2018-19 से पूरी तरह से सेमेस्टर सिस्टम लागू हो जाएगा। फिलहाल परास्नातक के पाठ्यक्रमों में सेमेस्टर प्रणाली लागू है। स्नातक स्तर पर केवल बीए, बीएससी और बीकॉम में वार्षिक प्रणाली पर परीक्षाएं होती हैं।

स्नातक के अन्य पाठ्यक्रमोें में पहले से सेमेस्टर सिस्टम लागू है। एक साथ सेमेस्टर और वार्षिक प्रणाली लागूू होने की वजह से साल में तीन बार परीक्षाओं का दौर चलता है। इसमें चार महीने से ज्यादा का समय लग जाता है। लविवि कुलपति प्रो. एसपी सिंह ने बताया कि विवि में सबसे ज्यादा स्टूडेंट बीए, बीएससी और बीकॉम पाठ्यक्रमों में ही हैं।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

‌विवि में पिछले कई साल से नहीं बढ़ी फीस

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Dehradun

सीबीएसई 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए जरूरी खबर, जल्दी करें...

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की अगले वर्ष होने वाले 10वीं, 12वीं परीक्षाओं का पंजीकरण शुरू हो गया है।

17 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

वजीराबाद फ्लाईओवर पर ट्रक से टकराई बस

दिल्ली में बुधवार की सुबह करीब 6 बजे हुए सड़क हादसे में बस में सवार एक यात्री को गंभीर चोट आई हैं। इस दौरान बस में सवार बाकी यात्री भी घायल हुए हैं। हादसा डीटीसी की बस और ट्रक में टक्कर की वजह से हुआ।

17 अक्टूबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree