बीबीएयू हिंदी में शुरू करेगा एमफिल और एमएड पाठ्यक्रम, इन स्टूडेंट्स को मिलेगी स्कॉलरशिप

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Tue, 27 Nov 2018 11:57 AM IST
विज्ञापन
डेमो
डेमो

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
बीबीएयू नए सत्र से हिंदी में एमफिल और एमएड भी शुरू करेगा। वहीं एमफिल के विद्यार्थियों को 5000 रुपये की छात्रवृत्ति भी दी जाएगी। इधर, बीबीए-एलएलबी कोर्स को लॉ विभाग में ही चलाने का फैसला हुआ है। सोमवार को एकेडमिक काउंसिल की मैराथन बैठक में उक्त के साथ कई अन्य मुद्दों को भी हरी झंडी मिली।
विज्ञापन

कार्यकारी कुलपति प्रो. एनएमपी वर्मा की अध्यक्षता में हुई बैठक में बीबीए-एलएलबी कोर्स को लेकर गणित कमेटी की रिपोर्ट रखी गई। इसे स्वीकार करते हुए तय हुआ कि कोर्स लॉ से जुड़ा है, इसलिए उसी विभाग में चलेगा।
इसकी संस्तुति का पत्र बीसीआई को दोबारा भेज दिया जाएगा। वहीं हृयूमन राइट्स विभाग में बीए-एलएलबी कोर्स चलाने पर सहमति नहीं बनी। इस क्रम में हिंदी में एमफिल व एमएड शुरू करने पर सहमति बनी। यूजीसी के पीएचडी अध्यादेश को स्वीकार किया गया।
जिसमें एससी-एसटी विद्यार्थियों को निर्धारित अर्हता में पांच फीसदी छूट दी जाएगी। रजिस्ट्रार प्रो. आरबी राम ने बताया कि इग्नू का स्टडी सेंटर खोलने का भी प्रस्ताव आया किंतु किसी अन्य केंद्रीय विश्वविद्यालय में ऐसी व्यवस्था न होने के कारण इसे स्थगित कर दिया गया।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

छात्रवृत्ति देने के लिए की जाएगी फंड की मांग

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us