लखनऊ विश्वविद्यालय में नौ मार्च से शुरू होगी नए सत्र में दाखिले की आवेदन प्रक्रिया

Lucknow Bureau न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Published by: लखनऊ ब्यूरो
Updated Thu, 25 Feb 2021 11:14 AM IST
विज्ञापन
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
लखनऊ विश्वविद्यालय में दाखिले के लिए आवेदन प्रक्रिया 9 मार्च से शुरू हो जाएगी। इसमें शैक्षिक सत्र 2020-21 के पीएचडी तथा तथा सत्र 2021-22 के अन्य दाखिले शामिल होंगे। लविवि के साथ ही केंद्रीयकृत प्रवेश के तहत इस प्रक्रिया में शामिल होने वाले महाविद्यालयों के विभिन्न पाठ्यक्रमों के दाखिले इसके माध्यम से होंगे। पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन ऑनलाइन तथा दाखिले प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होंगे। कोरोना के चलते पिछले सत्र के दाखिले मेरिट के आधार पर किए गए थे। लविवि में मंगलवार को हुई प्रवेश समिति की बैठक में ये फैसले लिए गए।
विज्ञापन


लविवि कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह फैसला किया गया कि सभी पाठ्यक्रमों के प्रवेश फॉर्म के शुल्क पूर्व वर्ष की भांति ही रहेंगे। उनमें कोई बदलाव नहीं होगा। स्नातक प्रवेश परीक्षा का फॉर्म शुल्क सामान्य और ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए 800 रुपये, एससी-एसटी के लिए 400 रुपये रखा गया है। स्नातक प्रबंधन में सामान्य और ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए 1000 रुपये तथा एससी-एसटी के लिए 500 रुपये आवेदन शुल्क रखा गया है।


केंद्रीयकृत प्रवेश के तहत विश्वविद्यालय के साथ ही इस प्रक्रिया में शामिल होने वाले महाविद्यालयों के विभिन्न पाठ्यक्रमों का दाखिले होंगे। पिछले साल से शुरू हुई केंद्रीकृत दाखिला प्रक्रिया में महाविद्यालयों को यह विकल्प दिया गया था कि प्रति पाठ्यक्रम वे 50 हजार रुपये का भुगतान करके काउंसिलिंग के माध्यम से दाखिले ले लें। इस साल भी यह प्रक्रिया जारी रहेगी।

पीएचडी और पार्ट टाइम पीएचडी के लिए आवेदन
लविवि में पीएचडी के दाखिले अध्यादेश 2020 के आधार पर होंगे। इसमें इस साल पहली बार नवीन अध्यादेश के तहत रेग्युलर के साथ ही पार्ट टाइम पीएचडी में प्रवेश भी होंगे। इसके लिए विस्तृत गाइडलाइन जारी की गई है।

कैट से सीट न भरने पर एमबीए में होगी प्रवेश परीक्षा
लविवि ने एमबीए के दाखिले कैट के स्कोर पर करने का फैसला किया है। हालांकि कैट के माध्यम से सीट न भरने पर दाखिले लखनऊ यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट इंट्रेंस टेस्ट (लूमेट) के माध्यम से होंगे।

डिप्लोमा और सर्टिफिकेट में भी प्रवेश परीक्षा
लखनऊ विश्वविद्यालय ने पीजी डिप्लोमा, एडवांस डिप्लोमा, डिप्लोमा तथा सर्टिफिकेट और प्रोफिशिएंसी कोर्स के दाखिले परीक्षा के माध्यम से करने का फैसला किया है।

जेईई से बीटेक के दाखिले
लविवि के इंजीनियरिंग संकाय में संचालित बीटेक पाठ्यक्रम में प्रवेश इस साल जेईई के स्कोर पर होंगे। इसकी काउंसिलिंग एकेटीयू द्वारा होगी। केंद्र सरकार के फैसले की वजह से इस साल से बीटेक के दाखिले केंद्रीय प्रवेश परीक्षा के माध्यम से हो रहे हैं। लविवि ने भी जेईई से ही दाखिले करने का फैसला किया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X