विज्ञापन
विज्ञापन

जम्मू-कश्मीरः वेतन न मिलने से शिक्षक नाराज, बोले- सात दिनों के इंतजार के बाद स्कूलों में लगेंगे ताले

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Updated Fri, 18 Oct 2019 05:40 PM IST
धरना प्रदर्शन, सांकेतिक तस्वीर
धरना प्रदर्शन, सांकेतिक तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
ख़बर सुनें
जम्मू-कश्मीर के पुंछ में छह महीने से वेतन नहीं मिलने से नाराज रहबर-ए-तालीम के तहत रखे गए शिक्षकों ने मुख्य शिक्षा अधिकारी (सीईओ) कार्यालय में धरना दिया। उन्होंने नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन भी किया।
विज्ञापन
गुरुवार को शिक्षकों ने राज्यपाल और शिक्षा अधिकारियों से गुहार लगाई कि उनका बकाया वेतन जल्दी जारी किया जाए। जिससे की वह दीपावली का त्योहार मना सकें। उन्होंने कहा कि ईद और रक्षाबंधन के दौरान भी उन्हें वेतन नहीं मिल पाया। इसके चलते उन्हें आर्थिक परेशानी उठानी पड़ रही है। इससे उनके परिवार के सदस्य भी परेशान है।

शिक्षकों ने कहा कि घरों से स्कूलाें तक पहुंचने के लिए उनके पास पैसे नहीं हैं। अगर उन्हें पांच-सात दिनों में वेतन नहीं दिया गया तो स्कूलों में ताले लग जाएंगे। मौके पर रहबर-ए-तालीम शिक्षक संगठन के राज्य सचिव नजम उल जाफरी समेत अन्य लोग मौजूद रहे।
विज्ञापन

Recommended

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स
safalta

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019
Astrology Services

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

मंडी समेत देश के नौ आईआईटी कैंपस में चल रहे प्राइवेट स्कूल होंगे बंद, खुलेंगे केवी

देश के नौ आईआईटी कैंपस में चल रहे निजी स्कूलों को बंद कर नियमानुसार केंद्रीय विद्यालय खोलने के निर्देश दिल्ली हाईकोर्ट ने जारी किए हैं।

17 नवंबर 2019

विज्ञापन

‘अग्नि-2’ मिसाइल का पहला रात्रि परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा, सूत्रों से मिली जानकारी

रक्षा सूत्रों की तरफ से खबर है भारत ने 2,000 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का ओडिशा के बालासोर से सफल रात्रि-परीक्षण किया है।

16 नवंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election