विज्ञापन
विज्ञापन

1998 से 2014: किस एग्जिट पोल ने क्या भविष्यवाणी की थी और मतदाताओं का फैसला क्या था

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sun, 19 May 2019 09:59 PM IST
मतदान के लिए लगी कतार
मतदान के लिए लगी कतार - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
आठ राज्यों के 59 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान खत्म होने के साथ ही रविवार को सात चरणों तक चला लोकसभा चुनाव 2019 संपन्न हुआ। अब सब की निगाहें विभिन्न टेलिविजन चैनलों के एग्जिट पोल पर टिकी हुई हैं। 
विज्ञापन
एग्जिट पोल, जो कई बार अपने आकलन से अलग पाए गए हैं, उन लोगों की प्रतिक्रियाओं पर आधारित होते हैं जिन्होंने वोट डाला है। एक्जिट पोल की सर्वे करने वाला, यह मानते हुए कि मतदाताओं ने अपनी पसंद को सही ढंग से बता दिया है, चुनाव मतदान की वास्तविक गणना से पहले नतीजों की भविष्यवाणी करते हैं। 




पढ़ें एक्जिट पोल 2019 लाइव

ऐसे कई उदाहरण सामने आए हैं जब एग्जिट पोल आकलन से बहुत अलग पाए गए हैं। 1998 और 2014 के आम चुनावों को छोड़ दें तो कम से कम चार एग्जिट पोल ने गलत भविष्यवाणी की है।

भाजपा के अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली सरकार के गिर जाने के कारण 1999 में हुए चुनाव में ज्यादातर एक्जिट पोल ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की जीत के बारे में बढ़चढ़ कर भविष्य़वाणी की। उन्होंने एनडीए को 315 से अधिक सीटें दीं, लेकिन उसने असल में 296 सीटें जीतीं।

आज के एग्जिट पोल कितने सही साबित होंगे, यह तो हमें सिर्फ 23 मई को ही पता चल पाएगा। लेकिन यहां एक नजर में देखें कि 1998 के बाद से हुए चुनावों में एक्जिट पोल ने क्या भविष्यवाणी की थी और वास्तविक परिणाम क्या आए : 

एक्जिट पोल के नतीजे कितने अलग निकले

पिछले पांच एक्जिट पोल के नतीजे बताते हैं कि यह सर्वे सांख्यिकी की बड़ी गलतियों के शिकार हो सकते हैं। इन सर्वे के आकलन और वास्तविक नतीजे कभी-कभार ही एक जैसे पाए जाते हैं। 

 
1998 भाजपा+ कांग्रेस+ अन्य
आउटलुक/एसी नीलसन 238 149 156
डीआरएस 249 155 139
फ्रंटलाइन/सीएमएस 235 155 182
इंडिया टुडे/सीएसडीएस 214 164 165
आधिकारिक नतीजे 252 166 119
 

 
1999 भाजपा+ कांग्रेस+ अन्य
इंडिया टुडे/इनसाइट 336 146 80
एचटी-एसी नीलसन 300 146 95
आउटलुक/सीएमएस 329 145 39
टाइम्स पोल/डीआरएस 332 138 -
आधिकारिक नतीजे 296 134 113
 

 
2004 भाजपा+ कांग्रेस+ अन्य
आउटलुक/एमडीआरए 290 169 99
आज तक-ओआरजी मार्ग 248 190 105
एनडीटीवी/इंडियन एक्सप्रेस 250 205 120
स्टार-सी वोटर 275 186 98
आधिकारिक नतीजे 189 222 132
 

 
2009 भाजपा+ कांग्रेस+ अन्य
स्टार न्यूज/नीलसन 197 199 136
टाइम्स नाउ 183 198 162
एनडीटीवी 177 216 150
हेडलाइंस टुडे 180 191 172
आधिकारिक नतीजे 159 262 79
 

 
2014 भाजपा+ कांग्रेस+ अन्य
एबीपी/नीलसन 281 97 165
टाइम्स नाउ-ओआरजी 249 148 146
सीएनएन-आईबीएन सीएसडीएस लोकनीति 280 97 166
हेडलाइंस टुडे सीसेरो 272 115 156
चाणक्या 340 70 133
इंडिया टीवी-सी वोटर 289 101 153
एनडीटीवी 279 103 161
आधिकारिक नतीजे 336 59 148
 
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

सबसे पहले कब कराया गया था एग्जिट पोल, ओपिनियन पोल से ये कितना अलग?

विज्ञापन

Recommended

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

India News

महाराष्ट्र: पालघर में गिरा इमारत का स्लैब, फंसी पांच साल की बच्ची

बचाव कार्यों के लिए स्थानीय दमकलकर्मी और पुलिस मौके पर पहुंच गए हैं। एतहितायन कदम उठाते हुए इमारत में रहने वाले 80 परिवारों को वहां से बाहर निकाल लिया गया है।

16 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

मध्य-प्रदेश सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने कैलाश विजयवर्गीय और हेमा मालिनी पर दिया बेतुका बयान

मध्य-प्रदेश सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने सड़कों के बहाने कैलाश विजयवर्गीय और भाजपा सांसद हेमा मालिनी को लेकर बेतुका बयान दिया है।

15 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree