एनसीएचएम की दूसरी काउंसलिंग सूची में बड़ी गड़बड़ी, निचले रैंक को टॉप इंस्टीट्यूट अलॉट, छात्र परेशान 

अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली Updated Wed, 30 Sep 2020 03:09 PM IST
विज्ञापन
nchmct
nchmct - फोटो : एनसीएचएमसीटी की वेबसाइट से

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

सार

-बैचलर ऑफ साइंस इन हॉस्पिटैलिटी एंड होटल एडमिनिस्ट्रेशन में दाखिले की काउंसलिंग सूची जारी करने के एक घंटे बाद हटाई

विस्तार

नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी (एनसीएचएमसीटी) द्वारा 2020 सत्र में बैचलर ऑफ साइंस इन हॉस्पिटैलिटी एंड होटल एडमिनिस्ट्रेशन में दाखिले की ऑनलाइन काउंसलिंग के चलते छात्र मंगलवार को बेहद परेशान रहे।
विज्ञापन

दरअसल सीट अलॉटमेंट के लिए मंगलवार को काउंसलिंग की दूसरी कटऑफ लिस्ट आनी थी। देर शाम कटऑफ लिस्ट जारी हुई तो उसमें निचले रैंक वाले छात्रों को टॉप के इंस्टीट्यूट आवंटित थे। हालांकि बाद में वेबसाइट से कटऑफ लिस्ट हटा दी गई, लेकिन छात्र दुविधा में हैं कि रैंक के आधार पर इंस्टीट्यूट मिलेगा भी या नहीं।
केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के अधीनस्थ एनसीएचएमसीटी इस सेंट्रलाइज्ड काउंसलिंग के माध्यम से सीट अलॉटमेंट करता है। एनसीएचएमसीटी ने दाखिले के लिए एनसीएचएम-जेईई 2020 की जिम्मेदारी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को दी थी।
एनटीए ने 29 अगस्त को परीक्षा आयोजित करने के आधार पर सात सितंबर को रिजल्ट जारी कर दिया था। इसके बाद 15 सितंबर को काउंसलिंग का पहला राउंड और 29 सितंबर को काउंसलिंग के दूसरे  राउंड के नतीजे आने थे। छात्र सुबह से इंतजार कर रहे थे।

इसी बीच करीब साढ़े पांच बजे के बाद वेबसाइट पर दूसरी काउसंलिंग की कटऑफ जारी हुई। इसी कटऑफ में खामी थी। जिन छात्रों ने अपनी रैंक के आधार पर दिल्ली, बॉम्बे और बंगलूरू के इंस्टीट्यूट को अपनी पहली, दूसरी और तीसरी पसंद भरा था। उन्हें चौथे स्थान कोलकाता में सीट अलॉट की गई। जबकि उनके निचले रैंक वाले छात्रों को तीसरे स्थान का बंगलूरू अलॉट था।

यह कटऑफ देखकर छात्रों ने एनसीएचएमसीटी को ईमेल और हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत दी पर कोई जवाब नहीं मिला। आकाश, नेहा, कोमल, रोहित आदि छात्रों ने बताया कि देर शाम वेबसाइट से दूसरी काउंसलिंग सूची हटाकर बुधवार को काउंसलिंग सूची जारी होने का संदेश अपलोड किया गया है। हालांकि वे डर रहे हैं कि कहीं ऐसा हुआ तो उनका साल खराब हो जाएगा। 
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X