विज्ञापन

हाईस्कूल तक पढ़ा रहे चार गैर मान्यता प्राप्त स्कूल, कराए गए बंद

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, ग्रेटर नोएडा Updated Fri, 06 Jul 2018 10:39 AM IST
फाइल फोटो
फाइल फोटो
विज्ञापन
ख़बर सुनें
ग्रेटर नोएडा में चल रहे गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों का आलम यह है कि पांचवीं और आठवीं तक तो छोड़िए अब गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों में विद्यार्थियों के जीवन से खिलवाड़ करते हुए नौवीं और दसवीं तक बोर्ड की पढ़ाई भी करा रहे हैं।
विज्ञापन
जेवर ब्लॉक में बृहस्पतिवार को खंड शिक्षा अधिकारी ने औचक निरीक्षण में इस तरह चल रहे चार गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को बंद कराया गया है।

एबीएसए की अध्यक्षता में टीम ने दयानंद पब्लिक स्कूल नीमका पर छापेमारी की। विद्यालय में बच्चों के लिए मूलभूत सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं थीं। विद्यालय में कक्षा 8 और 9 के बच्चों को भी पढ़ाया जा रहा था। इसके बाद टीम एमडी पब्लिक स्कूल चोरौली पहुंची।

यहां पर विद्यालय में कक्षा 10 तक के बच्चों को पढ़ाया जा रहा था। टीम ने दोनों ही विद्यालयों को बंद कराया। इसके बाद टीम अमन प्रकाश पब्लिक स्कूल चौरोली पहुंची। संचालक छापेमारी से पहले ही स्कूल बंद करके भाग खड़े हुए।

फिर केपीएस पब्लिक स्कूल के संचालक उदयवीर भी विद्यालय को बंद कर के वहां चले गए। चारों विद्यालयों को नोटिस दे दिया गया है। पिछले वर्ष बिसरख में इसी तरह से गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों में पढ़ रहे 30 से अधिक बच्चे दसवीं की परीक्षा नहीं दे पाए थे।

पूर्व में बंद कराए विद्यालय दोबारा हुए संचालित
जेवर में चिह्नित 33 गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय में से पूर्व में टीम ने 15 विद्यालय बंद कराए थे। इनमें से बृहस्पतिवार को कार्रवाई करते हुए चार अन्य विद्यालय बंद कराए हैं। अब तक कुल 19 विद्यालयों पर कार्रवाई हुई है। हालांकि, जानकारी मिली है कि पूर्व में बंद कराए गए विद्यालय जीनियस पब्लिक स्कूल थोरा, सरस्वती बाल विद्यालय मंदिर थोरा, बोध मिशन विद्यालय थोरा का पुन: संचालन किया जा रहा है। एबीएसए सुनील दत्त मुदगल ने बताया कि यदि इनकी जांच में तथ्य सही पाया गया तो उन पर एक लाख रुपये जुर्माना लगेगा। इसके अलावा अगर प्रतिदिन स्कूल खुलता है तो दस हजार रुपये प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना लगाया जाएगा।

दो मान्यता प्राप्त स्कूलों में बसों की फिटनेस फेल
टीम ने जेवर में दो मान्यता प्राप्त स्कूल में भी छापेमारी की। इनमें आरजे पब्लिक स्कूल नीमका और एस्ट्यूट पब्लिक स्कूल जेवर के बसों की फिटनेस की जांच की गई। उसमें से अधिकतर बसों की फिटनेस नहीं थी। जिनके लिए भी नोटिस दिए जा रहे हैं।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

271 कॉलेजों, 16 विश्वविद्यालयों की बंद होगी रूसा ग्रांट

हिमाचल के 271 डिग्री, बीएड कॉलेजों और 16 विश्वविद्यालयों को राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) के तहत मिलने वाली ग्रांट बंद हो सकती है।

14 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

चेहरे पर मां सी दमक और बातों में पिता सा कॉन्फीडेंस, सारा ने ऐसे किया पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस का सामना

सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी सारा अली खान अपनी डेब्यू फिल्म को लेकर दर्शकों के सामने आने के लिए तैयार हैं। सारा ने अपनी पहली ही प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिस तरह खुलकर सवालों के जवाब दिए, उससे फिल्म इंडस्ट्री काफी प्रभावित हुई है।

14 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree