विज्ञापन
विज्ञापन

मनपसंद कोर्स और कॉलेज के लिए दाखिले कराए रद्द, कटऑफ में 3 फीसदी की गिरावट

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Fri, 05 Jul 2019 05:28 AM IST
नार्थ कैंपस में दाखिला प्रक्रिया के दौरान विद्यार्थी
नार्थ कैंपस में दाखिला प्रक्रिया के दौरान विद्यार्थी - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
दिल्ली विश्वविद्यालय में स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए दूसरी कटऑफ आते ही कॉलेजों में दाखिलों का दौर शुरू हो गया है। दूसरी कटऑफ मेें औसतन 0.25 से 3 फीसदी की गिरावट हुई है। काफी विद्यार्थियों ने पहले ही दिन दाखिले रद्द कराकर पहले से बेहतर कॉलेज व कोर्स में दाखिला लिया। हालांकि, कॉलेजों में बृहस्पतिवार को दाखिले की रफ्तार कम रही। 
विज्ञापन
दूसरी कटऑफ लिस्ट के दाखिले शुरू होने पर कुछ कॉलेजों में दाखिले लेने वालों की कम, रद्द कराने वालों की भीड़ ज्यादा रही। इस कटऑफ लिस्ट में हुई गिरावट के कारण विद्यार्थियों के लिए नए दरवाजे खुल गए। इसलिए उन्होंने पहले से ज्यादा बेहतर कॉलेज में दाखिला लिया। दाखिला रद्द कराने का दौर अब प्रत्येक कटऑफ में जारी रहेगा। मालूम हो कि इस बार प्रशासन ने एक कटऑफ में एक बार ही दाखिला रद्द कराने का प्रावधान किया है। इस कटऑफ के दाखिले 5 और 6 जुलाई तक होंगे।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

कॉलेजों में दाखिले व रद्द कराने की स्थिति

विज्ञापन

Recommended

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी
Dolphin PG Dehradun

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी

अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति हेतु गुरुपूर्णिमा पर चढ़ाएं शिरडी साईं बाबा को महाप्रसाद- 16 जुलाई 2019
Astrology

अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति हेतु गुरुपूर्णिमा पर चढ़ाएं शिरडी साईं बाबा को महाप्रसाद- 16 जुलाई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Shimla

केंद्र की इंस्पायर अवार्ड योजना का फायदा नहीं उठा रहे विद्यार्थी

केंद्र सरकार की इंस्पायर अवार्ड मानक योजना को लेकर प्रदेश के स्कूल बेपरवाह हैं। इसके लिए प्रदेश से अभी तक 5 हजार स्कूली बच्चों के ही आवेदन आए हैं।

15 जुलाई 2019

विज्ञापन

और पावरफुल होगी NIA, वोटिंग के बाद लोकसभा में NIA संशोधित विधेयक 2019 बिल पास

आतंकवाद के खिलाफ और सख्त कार्रवाई करने के उद्देश्य से लोकसभा में गरमागरम बहस के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी संशोधित विधेयक 2019 पारित हो गया है।

15 जुलाई 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election